शंकराचार्य द्वादश नाम स्तोत्र

सद्गुरुः शङ्कराचार्यः सर्वतत्त्वप्रचारकः|
वेदान्तवित् सुवेदज्ञः चतुर्दिग्विजयी तथा|
आर्याम्बातनुजो धर्मध्वजो दण्डधरस्तथा|
यतिराजो महाचार्य्यो मठादीनां प्रवर्तकः|
द्वादशैतानि नामानि शङ्करस्य महात्मनः|
यो नित्यं पठति प्रीत्या महज्ज्ञानं जनो भुवि|
अन्ते मोक्षमवाप्नोति साधूनां सङ्गतिं सदा|

 

Ramaswamy Sastry and Vighnesh Ghanapaathi

50.7K

Comments Hindi

byvq6
वेदधारा ने मेरी सोच बदल दी है। 🙏 -दीपज्योति नागपाल

आपकी मेहनत से सनातन धर्म आगे बढ़ रहा है -प्रसून चौरसिया

वेदधारा के प्रयासों के लिए दिल से धन्यवाद 💖 -Siddharth Bodke

आपकी वेबसाइट जानकारी से भरी हुई और अद्वितीय है। 👍👍 -आर्यन शर्मा

वेदधारा को हिंदू धर्म के भविष्य के प्रयासों में देखकर बहुत खुशी हुई -सुभाष यशपाल

Read more comments

Other stotras

Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |