मारुति स्तोत्र

35.7K

Comments Hindi

p4fed
वेदधारा के कार्यों से हिंदू धर्म का भविष्य उज्जवल दिखता है -शैलेश बाजपेयी

वेदधारा का कार्य अत्यंत प्रशंसनीय है 🙏 -आकृति जैन

Ram Ram -Aashish

वेदधारा के माध्यम से हिंदू धर्म के भविष्य को संरक्षित करने के लिए आपका समर्पण वास्तव में सराहनीय है -अभिषेक सोलंकी

आपकी वेबसाइट से बहुत सी नई जानकारी मिलती है। -कुणाल गुप्ता

Read more comments

 

 

ओं नमो वायुपुत्राय भीमरूपाय धीमते|
नमस्ते रामदूताय कामरूपाय श्रीमते|
मोहशोकविनाशाय सीताशोकविनाशिने|
भग्नाशोकवनायास्तु दग्धलोकाय वाङ्मिने|
गतिर्निर्जितवाताय लक्ष्मणप्राणदाय च|
वनौकसां वरिष्ठाय वशिने वनवासिने|
तत्त्वज्ञानसुधासिन्धुनिमग्नाय महीयसे|
आञ्जनेयाय शूराय सुग्रीवसचिवाय ते|
जन्ममृत्युभयघ्नाय सर्वक्लेशहराय च|
नेदिष्ठाय प्रेतभूतपिशाचभयहारिणे|
यातनानाशनायास्तु नमो मर्कटरूपिणे|
यक्षराक्षसशार्दूलसर्पवृश्चिकभीहृते|
महाबलाय वीराय चिरञ्जीविन उद्धते|
हारिणे वज्रदेहाय चोल्लङ्घितमहाब्धये|
बलिनामग्रगण्याय नमः पाहि च मारुते|
लाभदोऽसि त्वमेवाशु हनुमन् राक्षसान्तक|
यशो जयं च मे देहि शत्रून् नाशय नाशय|

Ramaswamy Sastry and Vighnesh Ghanapaathi

Other stotras

Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |