विशाखा नक्षत्र

Vishakha Nakshatra symbol potter wheel

  

तुला राशि के २० अंश से वृश्चिक राशि के ३ अंश २० कला तक जो नक्षत्र व्याप्त है, उसे विशाखा कहते हैं।

वैदिक खगोल विज्ञान में यह पन्द्रहवां नक्षत्र है। 

आधुनिक खगोल विज्ञान के अनुसार विशाखा नक्षत्र का नाम है α Zubenelgenubi, β Zubeneschamali, γ and ι Librae।

व्यक्तित्व और विशेषताएं  

विशाखा तुला एवं वृश्चिक राशि दोनों के लिए

  • न्याय परायण
  • दयावान
  • उदार
  • बुद्धिमान
  • मीठी बात
  • गुस्सैल
  • काम में सामर्थ्य
  • बचपन के दौरान कठिनाइयां
  • पिता से समर्थन नहीं
  • अहंकारी
  • जिद्दी
  • कभी - कभी रूढ़िवादी 

सिर्फ विशाखा नक्षत्र तुला राशि के लिए

  • आकर्षक व्यक्तित्व
  • मीठा व्यवहार
  • विनम्र
  • धर्मपरायण
  • ईमानदार
  • सुसंस्कृत
  • सुव्यवस्थित

सिर्फ विशाखा नक्षत्र वृश्चिक राशि के लिए

  • प्रभावशाली
  • ऊर्जावान
  • सम्मानित
  • कुलीन
  • सीधा साधा
  • स्वतंत्र विचारधारा
  • उड़ाऊ
  • विवादप्रिय

प्रतिकूल नक्षत्र

  • ज्येष्ठा
  • पूर्वाषाढा
  • श्रवण
  • विशाखा तुला राशि के लिए - कृत्तिका वृषभ राशि, रोहिणी, मृगशिरा वृषभ राशि
  • विशाखा वृश्चिक राशि के लिए - मृगशिरा मिथुन राशि, आर्द्रा, पुनर्वसु मिथुन राशि

विशाखा नक्षत्र में जन्म लेने वालों को इन दिनों महत्वपूर्ण कार्य नहीं करना चाहिए और इन नक्षत्रों में जन्मे लोगों के साथ भागीदारी नहीं करना चाहिए। 

स्वास्थ्य

विशाखा नक्षत्र में जन्म लेने वालों को इन स्वास्थ्य से संबन्धित समस्याओं की संभावना है- 

विशाखा नक्षत्र तुला राशि

  • मधुमेह
  • बेहोशी
  • गुर्दे से संबंधित समस्याएं

विशाखा नक्षत्र वृश्चिक राशि

  • गर्भाशय की समस्या
  • प्रोस्टेट की समस्या
  • मूत्र संबंधी रोग
  • खून का पतला होना
  • रक्तस्राव
  • वृक्क अश्मरी
  • व्रण
  • शोफ
  • नाक से खून बहना

व्यवसाय

विशाखा नक्षत्र में जन्म लेने वालों के लिए कुछ अनुकूल व्यवसाय- 

विशाखा तुला राशि

  • मुद्रण
  • प्रकाशन
  • लेखक
  • गृह निर्माण
  • ब्रोकर
  • यातायात नियंत्रण
  • सुरक्षा
  • रक्षा सेवाएं
  • व्यापारी
  • कर अधिकारी
  • सरकारी सेवा
  • उत्पादन
  • बिजली विभाग
  • खनन
  • मैकेनिक
  • इंजीनियर
  • जेल अधिकारी
  • डॉक्टर
  • क्रिमिनोलॉजिस्ट
  • फ़िंगरप्रिंट विशेषज्ञ
  • इत्र
  • वस्त्र 

विशाखा वृश्चिक राशि

  • ट्रैवल एजेंट
  • पर्यटन
  • अंतर्राष्ट्रीय संपर्क
  • शिपिंग
  • एविएशन
  • घर का निर्माण
  • अंतर्राष्ट्रीय व्यापार
  • फल
  • बगीचा
  • रेटिंग
  • कर विभाग
  • सरकारी सेवा
  • सिनेमा
  • टी.वी.
  • कागज
  • खनन
  • लेखापरीक्षक
  • रत्न
  • इत्र
  • प्रकाशन
  • पत्रकार
  • डॉक्टर
  • दुभाषिया
  • शिक्षक

क्या विशाखा नक्षत्र वाला व्यक्ति हीरा धारण कर सकता है?

विशाखा तुला राशि - हां

विशाखा वृश्चिक राशि - नहीं

भाग्यशाली रत्न

पुखराज

अनुकूल रंग

विशाखा तुला राशि - पीला, क्रीम, सफेद, हल्का नीला

विशाखा वृश्चिक राशि - पीला, क्रीम, लाल

विशाखा नक्षत्र में जन्मे बच्चे का नाम

विशाखा नक्षत्र के लिए अवकहडादि पद्धति के अनुसार नाम का प्रारंभिक अक्षर हैं-

  • पहला चरण - ती
  • दूसरा चरण - तू
  • तीसरा चरण - ते
  • चौथा चरण - तो

नामकरण संस्कार के समय रखे जाने वाले पारंपरिक नक्षत्र-नाम के लिए इन अक्षरों का उपयोग किया जा सकता है।

शास्त्र के अनुसार नक्षत्र-नाम के अलावा एक व्यावहारिक नाम भी होना चाहिए जो रिकॉर्ड में आधिकारिक नाम रहेगा। उपरोक्त प्रणाली के अनुसार रखे जाने वाला नक्षत्र-नाम केवल परिवार के करीबी सदस्यों को ही पता होना चाहिए।

विशाखा नक्षत्र में जन्म लेने वालों के व्यावहारिक नाम इन अक्षरों से प्रारंभ न करें -

  • विशाखा तुला राशि - य, र ल, व, उ, ऊ, ऋ, ष, अं, अः, क्ष।
  • विशाखा वृश्चिक राशि - अ, आ, इ, ई, श, स, क, ख, ग, घ।

वैवाहिक जीवन

विशाखा नक्षत्र में जन्मी महिलाएं अपने पति से से प्यार करती हैं। 

वे धर्मपरायण होती हैं। 

पति - पत्नी के अलग - अलग जगहों पर रहने की संभावना है। 

उपाय

विशाखा नक्षत्र में जन्म लेने वालों के लिए चन्द्र, बुध और शुक्र की दशाएं आमतौर पर प्रतिकूल होती हैं। वे 

निम्नलिखित उपाय कर सकते हैं।

मंत्र

ॐ इन्द्राग्निभ्यां नमः

विशाखा नक्षत्र

  • स्वामी - इन्द्राग्नि
  • अधीश ग्रह - बृहस्पति
  • पशु - शेर
  • वृक्ष - Flacourtia montana
  • पक्षी - कौआ
  • भूत - अग्नि
  • गण - असुर
  • योनि - बाघ ( पुरुष )
  • नाडी - अन्त्य
  • प्रतीक - कुम्हार का पहिया

 

43.4K

Comments

52e4y
वेदधारा की वजह से मेरे जीवन में भारी परिवर्तन और सकारात्मकता आई है। दिल से धन्यवाद! 🙏🏻 -Tanay Bhattacharya

🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 -मदन शर्मा

वेदधारा के माध्यम से हिंदू धर्म के भविष्य को संरक्षित करने के लिए आपका समर्पण वास्तव में सराहनीय है -अभिषेक सोलंकी

वेदधारा को हिंदू धर्म के भविष्य के प्रयासों में देखकर बहुत खुशी हुई -सुभाष यशपाल

वेदधारा समाज के लिए एक महान सेवा है -शिवांग दत्ता

Read more comments

घर में कौन से देवता की पूजा करनी चाहिए?

घर में पूजा के लिए शास्त्रों में पंचायतन देवता मुख्य बताये गये हैं। ये हैं - गणेश, विष्णु, शिव, देवी और सूर्य। इन पांचों देवताओं की पूजा एक साथ में होती है।

भगवान श्री धन्वन्तरि

समुद्र मंथन के समय क्षीरसागर से भगवान श्री धन्वन्तरि अमृत का कलश लेकर प्रकट हुए। भगवान श्री हरि ने उन्हें आशीर्वाद दिया कि तुम जन्मान्तर में विशेष सिद्धियों को प्राप्त करोगे। धन्वन्तरि ने श्री हरि के तेरहवें अवातार के रूप में काशीराज दीर्घतपा के पुत्र बनकर जन्म लिया। आयुर्वेद का प्रचार करके इन्होंने लोक को रोग पीडा से मुक्त कराने का मार्ग दिखाया।

Quiz

वन्दे मातरम किस उपन्यास में अन्तर्निहित गीत के रूप में प्रकाशित हुआ था ?
Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |