श्रवण नक्षत्र

Shravana Nakshatra symbol ear

 

मकर राशि के १० अंश से २३ अंश २० कला तक जो नक्षत्र व्याप्त है उसे श्रवण कहते हैं। 

वैदिक खगोल विज्ञान में यह बाईसवां नक्षत्र है। 

आधुनिक खगोल विज्ञान के अनुसार श्रवण नक्षत्र को α "Altair", β and γ Aquilae कहते हैं।

व्यक्तित्व और विशेषताएं

श्रवण नक्षत्र में जन्म लेने वालों की विशेषताएं -

  • कुलीन
  • उदार
  • कड़ी मेहनती
  • उपकारी
  • मीठी बात
  • बहुत सारे दोस्त
  • धर्म में रुचि
  • महत्त्वाकांक्षी
  • घर से दूर भाग्य
  • वित्तीय मामलों में नियंत्रण
  • चुनौतियों का सामना करने की क्षमता
  • व्यवस्थित
  • न्याय परायण
  • परिवार - उन्मुख
  • स्नेही
  • आदर्शवादी राजनीतिक विचार
  • जागरूक
  • वफादार
  • जोखिम लेना पसंद नहीं
  • आशावादी
  • बहादुर
  • श्रीमान

प्रतिकूल नक्षत्र

  • शतभिषा
  • उत्तरा भाद्रप
  • अश्विनी
  • मघा
  • पूर्वा फाल्गुनी
  • उत्तरा फाल्गुनी सिंह राशि

श्रवण नक्षत्र में जन्म लेने वालों को इन दिनों महत्वपूर्ण कार्य नहीं करना चाहिए और इन नक्षत्रों में जन्मे लोगों के साथ भागीदारी नहीं करना चाहिए। 

स्वास्थ्य

श्रवण नक्षत्र में जन्म लेने वालों को इन स्वास्थ्य से संबन्धित समस्याओं की संभावना है-

  • छाजन
  • त्वचा रोग
  • फोड़े
  • संधिशोथ
  • तपेदिक
  • दस्त
  • अपच
  • फाइलेरिया
  • शोफ
  • कुष्ठ

व्यवसाय

श्रवण नक्षत्र में जन्म लेने वालों के लिए कुछ अनुकूल व्यवसाय-

  • प्रशीतन
  • कोल्ड स्टोरेज
  • आइसक्रीम
  • सुखाने की मशीन
  • खनन
  • पेट्रोलियम उद्योग
  • पानी से संबंधित
  • फिशिंग
  • खेती
  • मोती
  • चमडा उद्योग
  • नर्स
  • जादू

क्या श्रवण नक्षत्र वाला व्यक्ति हीरा धारण कर सकता है?

हां।

भाग्यशाली रत्न

मोती

अनुकूल रंग

सफेद, काला 

श्रवण नक्षत्र में जन्मे बच्चे का नाम

श्रवण नक्षत्र के लिए अवकहडादि पद्धति के अनुसार नाम का प्रारंभिक अक्षर हैं-

  • पहला चरण - खी
  • दूसरा चरण - खू
  • तीसरा चरण - खे
  • चौथा चरण - खो

नामकरण संस्कार के समय रखे जाने वाले पारंपरिक नक्षत्र-नाम के लिए इन अक्षरों का उपयोग किया जा सकता है।

शास्त्र के अनुसार नक्षत्र-नाम के अलावा एक व्यावहारिक नाम भी होना चाहिए जो रिकॉर्ड में आधिकारिक नाम रहेगा। उपरोक्त प्रणाली के अनुसार रखे जाने वाला नक्षत्र-नाम केवल परिवार के करीबी सदस्यों को ही पता होना चाहिए।

श्रवण नक्षत्र में जन्म लेने वालों के व्यावहारिक नाम इन अक्षरों से प्रारंभ न करें - स, ओ, औ, ट, ठ, ड, ढ।

वैवाहिक जीवन

सामान्य तौर पर, विवाह आरामदायक होगा। 

परिवार में तरक्की होगी। 

श्रवण नक्षत्र में जन्मी स्त्रियों को अच्छे पति प्राप्त होंगे और वे भाग्यशाली होती हैं। 

उपाय

श्रवण नक्षत्र में जन्म लेने वालों के लिए शनि, राहु और केतु की दशाएं आमतौर पर प्रतिकूल होती हैं। 

वे निम्नलिखित उपाय कर सकते हैं।

मंत्र

ॐ विष्णवे नमः

श्रवण नक्षत्र

  • स्वामी - विष्णु
  • अधीश ग्रह - चन्द्र
  • पशु - बंदर
  • वृक्ष - मदार
  • पक्षी - मुर्गा
  • भूत - वायु
  • गण - देव
  • योनि - बंदर (पुरुष)
  • नाडी - अन्त्य
  • प्रतीक - कान

 

Recommended for you

 

Video - Shravana Nakshatra Mantra 

 

Shravana Nakshatra Mantra

 

 

Video - SRI VISHNU SAHASRANAMAM 

 

SRI VISHNU SAHASRANAMAM

 

 

Video - Shiva Sahasranama 

 

Shiva Sahasranama

 

 

 

Ramaswamy Sastry and Vighnesh Ghanapaathi

Copyright © 2022 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |
Vedahdara - Personalize