उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र

Uttara Bhadra Nakshatra symbol twins

 

मीन राशि के ३ अंश  २० कला से १६ अंश ४० कला तक जो नक्षत्र व्याप्त है उसे उत्तरा भाद्रपद कहते हैं। 

वैदिक खगोल विज्ञान में यह छब्बीसवां नक्षत्र है। 

आधुनिक खगोल विज्ञान के अनुसार उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र को  γ Algenib Pegasi and α Alpheratz Andromedae कहते हैं।

व्यक्तित्व और विशेषताएं

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में जन्म लेने वालों की विशेषताएं -

  • ईश्वर में विश्वास
  • अध्यात्म में रुचि
  • मीठी बात
  • न्याय परायण
  • ईमानदार
  • करुणापूर्ण
  • सहानुभूतिपूर्ण
  • मासूम
  • आकर्षक व्यक्तित्व
  • उपकारी
  • समझने में मुश्किल
  • आत्म - नियंत्रण की कमी
  • आलस्य

प्रतिकूल नक्षत्र

  • अश्विनी
  • कृतिका
  • मृगशिरा
  • चित्रा तुला राशि
  • स्वाती
  • विशाखा तुला राशि

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में जन्म लेने वालों को इन दिनों महत्वपूर्ण कार्य नहीं करना चाहिए और इन नक्षत्रों में जन्मे लोगों के साथ भागीदारी नहीं करना चाहिए। 

स्वास्थ्य

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में जन्म लेने वालों को इन स्वास्थ्य से संबन्धित समस्याओं की संभावना है-

  • संधिशोथ
  • पैर की चोट
  • अपच
  • कब्ज़
  • हर्निया
  • शोफ
  • क्षय
  • गैस की समस्या 

व्यवसाय

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में जन्म लेने वालों के लिए कुछ अनुकूल व्यवसाय-

  • खनन
  • जल-निकास
  • पानी से संबंधित
  • घर का निर्माण
  • मनश्चिकित्सा
  • सैनेटोरियम और क्वारंटाइन सेवाएं
  • मिलिट्री
  • स्वास्थ्य संबंधित पेशा
  • गैर सरकारी संगठन
  • बीमा
  • निर्यात
  • शिपिंग
  • छाता, बरसाती कोट
  • तेल
  • फिशिंग
  • जल परिवहन

क्या उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र वाला व्यक्ति हीरा धारण कर सकता है?

नहीं

भाग्यशाली रत्न

नीलम

अनुकूल रंग

काला, पीला

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में जन्मे बच्चे का नाम

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र के लिए अवकहडादि पद्धति के अनुसार नाम का प्रारंभिक अक्षर हैं-

  • पहला चरण - दू
  • दूसरा चरण - थ
  • तीसरा चरण - झ
  • चौथा चरण - ञ

नामकरण संस्कार के समय रखे जाने वाले पारंपरिक नक्षत्र-नाम के लिए इन अक्षरों का उपयोग किया जा सकता है।

शास्त्र के अनुसार नक्षत्र-नाम के अलावा एक व्यावहारिक नाम भी होना चाहिए जो रिकॉर्ड में आधिकारिक नाम रहेगा। उपरोक्त प्रणाली के अनुसार रखे जाने वाला नक्षत्र-नाम केवल परिवार के करीबी सदस्यों को ही पता होना चाहिए।

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में जन्म लेने वालों के व्यावहारिक नाम इन अक्षरों से प्रारंभ न करें - ओ, औ, क, ख, ग, घ, ङ, प, फ, ब, भ, म।

वैवाहिक जीवन

सामान्य तौर पर, विवाह सुखी और शांतिपूर्ण रहेगा। 

उत्तरा भाद्रपद में जन्मी महिलाएं अच्छी तरह से व्यवहार करनेवाली और अच्छे स्वभाव की होंगी।

उपाय

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र में जन्म लेने वालों के लिए सूर्य, मंगल और केतु की दशाएं आमतौर पर प्रतिकूल होती हैं। 

वे निम्नलिखित उपाय कर सकते हैं।

मंत्र

ॐ अहिर्बुध्न्याय नमः

उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र

  • स्वामी - अहिर्बुध्न्य
  • अधीश ग्रह - शनि
  • पशु - गाय
  • वृक्ष - ग्रन्थताल
  • पक्षी - मोर
  • भूत - आकाश
  • गण - मनुष्य
  • योनि - गाय (स्त्री)
  • नाडी - मध्य
  • प्रतीक - जुडवां बच्चे

 

11.8K

Comments

y7ibG

गाय को मारने से क्या होता है?

गाय को मारना ब्रह्महत्या के समान है। गाय को मारनेवाला कालसूत्र नामक नरक में जाता है। गाय को डंडे मारने वाले के हाथ काटे जाएंगे यमलोक में। जिस देश में गोहत्या होती है वह देश प्रगति नहीं करती है। वहां के लोग निष्ठुर, पापी, तामसिक और शूरता से रहित बन जाते हैं।

नैमिषारण्य कहां है ?

नैमिषारण्य लखनऊ से ८० किलोमीटर दूर सीतापुर जिले में है । अयोध्या से नैमिषारण्य की दूरी है २०० किलोमीटर ।

Quiz

राम - जानकी मार्ग कहां से कहां तक रहेगा ?
Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |