पूर्वाषाढा नक्षत्र

Purvashada Nakshatra symbol winnow

  

धनु राशि के १३ अंश २० कला से २६अंश ४० कला तक जो नक्षत्र व्याप्त है उसे पूर्वाषाढा कहते हैं। 

वैदिक खगोल विज्ञान में यह बीसवां नक्षत्र है। 

आधुनिक खगोल विज्ञान के अनुसार पूर्वाषाढा नक्षत्र को δ Kaus Media and ε Kaus Australis Sagittarii कहते हैं।

व्यक्तित्व और विशेषताएं

पूर्वाषाढा नक्षत्र में जन्म लेने वालों की विशेषताएं -

  • सुन्दर
  • आकर्षक व्यक्तित्व
  • बुद्धिमान
  • बडा दिल
  • मीठी बात
  • दोस्तों के प्रति ईमानदारी
  • स्नेही
  • उपाकारी
  • दूसरों की राय को महत्व देनेवाला
  • बहुत सारे दोस्त
  • आशावादी
  • आत्मसम्मान
  • माता - पिता से कम समर्थन
  • मध्यम आयु में समृद्धि
  • कला में दिलचस्पी
  • धर्म में दिलचस्पी
  • नरम प्रकृति
  • विनम्र
  • सहनशील
  • उच्च जीवन स्तर
  • महिलाओं में दिखावा करने की प्रवृत्ति

प्रतिकूल नक्षत्र

  • श्रवण
  • शतभिषा
  • उत्तरा भाद्रपद
  • पुनर्वसु कर्क राशि
  • पुष्य
  • आश्लेषा

पूर्वाषाढा नक्षत्र में जन्म लेने वालों को इन दिनों महत्वपूर्ण कार्य नहीं करना चाहिए और इन नक्षत्रों में जन्मे लोगों के साथ भागीदारी नहीं करना चाहिए। 

स्वास्थ्य

पूर्वाषाढा नक्षत्र में जन्म लेने वालों को इन स्वास्थ्य से संबन्धित समस्याओं की संभावना है-

  • संधिशोथ
  • गृध्रसी
  • पीठ दर्द
  • मधुमेह
  • अपच
  • गुर्दे का ट्यूमर
  • कैंसर
  • सांस की बीमारियां
  • घुटनों की समस्या
  • सर्दी ज़ुखाम
  • रक्त विकार
  • कमजोरी

व्यवसाय

पूर्वाषाढा नक्षत्र में जन्म लेने वालों के लिए कुछ अनुकूल व्यवसाय-

  • कानूनी पेशा
  • बैंक
  • सरकारी नौकरी
  • पशु पालन
  • समाज सेवा
  • रेलवे
  • परिवहन
  • एविएशन
  • रेशम
  • लिनेन
  • रबड़
  • चीनी
  • नर्सरी
  • संगीत
  • होटल
  • अंतर्राष्ट्रीय व्यापार
  • स्वास्थ्य उद्योग

क्या पूर्वाषाढा नक्षत्र वाला व्यक्ति हीरा धारण कर सकता है?

हां।

भाग्यशाली रत्न

हीरा।

अनुकूल रंग

सफेद, पीला।

पूर्वाषाढा नक्षत्र में जन्मे बच्चे का नाम

पूर्वाषाढा नक्षत्र के लिए अवकहडादि पद्धति के अनुसार नाम का प्रारंभिक अक्षर हैं-

  • पहला चरण - भू
  • दूसरा चरण - धा
  • तीसरा चरण - फा
  • चौथा चरण - ढा

नामकरण संस्कार के समय रखे जाने वाले पारंपरिक नक्षत्र-नाम के लिए इन अक्षरों का उपयोग किया जा सकता है।

शास्त्र के अनुसार नक्षत्र-नाम के अलावा एक व्यावहारिक नाम भी होना चाहिए जो रिकॉर्ड में आधिकारिक नाम रहेगा। उपरोक्त प्रणाली के अनुसार रखे जाने वाला नक्षत्र-नाम केवल परिवार के करीबी सदस्यों को ही पता होना चाहिए।

पूर्वाषाढा नक्षत्र में जन्म लेने वालों के व्यावहारिक नाम इन अक्षरों से प्रारंभ न करें - उ, ऊ, ऋ, ष, ए, ऐ, ह, च, छ, ज, झ।

वैवाहिक जीवन

पूर्वाषाढा में जन्मे लोग मृदु और सौम्य होकर एक अच्छे जीवनसाथी बन सकते हैं। 

विवाह में महिलाओं को कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है। 

उपाय

पूर्वाषाढा नक्षत्र में जन्म लेने वालों के लिए चन्द्र, शनि, और राहु की दशाएं आमतौर पर प्रतिकूल होती हैं। 

वे निम्नलिखित उपाय कर सकते हैं।

मंत्र

अद्भ्यो नमः

पूर्वाषाढा नक्षत्र

  • स्वामी - आपः (जल)
  • अधीश ग्रह - शुक्र
  • पशु - बंदर
  • वृक्ष - Salix tetrasperma
  • पक्षी - मुर्गा
  • भूत - वायु
  • गण - मनुष्य
  • योनि - बंदर (पुरुष)
  • नाडी - मध्य
  • प्रतीक -सना 

 

70.8K

Comments

jkst3
आपके प्रवचन हमेशा सही दिशा दिखाते हैं। 👍 -स्नेहा राकेश

आपका हिंदू शास्त्रों पर ज्ञान प्रेरणादायक है, बहुत धन्यवाद 🙏 -यश दीक्षित

आपकी सेवा से सनातन धर्म का भविष्य उज्ज्वल है 🌟 -mayank pandey

वेदधारा की समाज के प्रति सेवा सराहनीय है 🌟🙏🙏 - दीपांश पाल

आपकी वेबसाइट से बहुत सी नई जानकारी मिलती है। -कुणाल गुप्ता

Read more comments

Knowledge Bank

निर्माल्य उतारने की विधि

चढ़े हुए फूल को अँगूठे और तर्जनी की सहायता से उतारे।

मंत्र कितने दिन में सिद्ध होता है?

हर मंत्र को सिद्ध करने के लिए उसके लिए बतायी गयी उतनी संख्या जाप करना जरूरी होता है। उतनी बार जाप करने से मंत्र सिद्ध होता है। कोई मंत्र एक ही दिन में, कोई मंत्र ७ दिनों में और कोई मंत्र २१ दिनों में सिद्ध होता है।

Quiz

वैकुण्ठ के द्वारपाल कौन हैं ?
Hindi Topics

Hindi Topics

ज्योतिष

Click on any topic to open

Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |