रेवती नक्षत्र

Revati nakshatra symbol fish

 

मीन राशि के १६ अंश  ४० कला से ३० अंश तक जो नक्षत्र व्याप्त है उसे रेवती कहते हैं। 

वैदिक खगोल विज्ञान में यह सत्ताईसवां नक्षत्र है। 

आधुनिक खगोल विज्ञान के अनुसार रेवती नक्षत्र को Lyra कहते हैं।

व्यक्तित्व और विशेषताएं

रेवती नक्षत्र में जन्म लेने वालों की विशेषताएं -

  • बुद्धिमान
  • तार्किक कार्रवाई
  • विवेकशील
  • आत्म - निर्भर
  • साहस
  • स्वस्थ
  • उच्च योग्यता
  • अध्यात्म में रुचि
  • न्याय परायण
  • कड़ी मेहनती
  • उपकारी
  • सम्मानित
  • चंचल मन 

प्रतिकूल नक्षत्र

  • भरणी
  • रोहिणी
  • आर्द्रा
  • चित्रा तुला राशि
  • स्वाती
  • विशाखा तुला राशि

रेवती नक्षत्र में जन्म लेने वालों को इन दिनों महत्वपूर्ण कार्य नहीं करना चाहिए और इन नक्षत्रों में जन्मे लोगों के साथ भागीदारी नहीं करना चाहिए। 

स्वास्थ्य

रेवती नक्षत्र में जन्म लेने वालों को इन स्वास्थ्य से संबन्धित समस्याओं की संभावना है-

  • पैर में दर्द
  • पैर में अपंगता
  • आंतों के अल्सर
  • कान की समस्याएं
  • कान का संक्रमण
  • गुर्दे से संबंधित समस्याएं
  • स्ट्रोक 

व्यवसाय

रेवती नक्षत्र में जन्म लेने वालों के लिए कुछ अनुकूल व्यवसाय-

  • संदेशवाहक
  • मापन एवं जाँच के एलेक्ट्रानिक उपकरण
  • पत्रकारिता
  • प्रकाशन
  • धर्म
  • कानूनी लेखन
  • कानूनी पेशा
  • कागज
  • अध्यापन
  • राजनीति
  • ज्योतिष
  • गणित
  • कमीशन एजेंट
  • ब्रोकर
  • बैंकिंग
  • अंतरराष्ट्रीय व्यापार
  • लेखापरीक्षक
  • ग्राफोलॉजिस्ट
  • फिंगर प्रिंट विशेषज्ञ 

क्या रेवती नक्षत्र वाला व्यक्ति हीरा धारण कर सकता है?

नहीं

भाग्यशाली रत्न

पन्ना

अनुकूल रंग

हरा, पीला

रेवती नक्षत्र में जन्मे बच्चे का नाम

रेवती नक्षत्र के लिए अवकहडादि पद्धति के अनुसार नाम का प्रारंभिक अक्षर हैं-

  • पहला चरण - दे
  • दूसरा चरण - दो
  • तीसरा चरण - चा
  • चौथा चरण - ची

नामकरण संस्कार के समय रखे जाने वाले पारंपरिक नक्षत्र-नाम के लिए इन अक्षरों का उपयोग किया जा सकता है।

शास्त्र के अनुसार नक्षत्र-नाम के अलावा एक व्यावहारिक नाम भी होना चाहिए जो रिकॉर्ड में आधिकारिक नाम रहेगा। उपरोक्त प्रणाली के अनुसार रखे जाने वाला नक्षत्र-नाम केवल परिवार के करीबी सदस्यों को ही पता होना चाहिए।

रेवती नक्षत्र में जन्म लेने वालों के व्यावहारिक नाम इन अक्षरों से प्रारंभ न करें - ओ, औ, क, ख, ग, घ, ङ, प, फ, ब, भ, म।

वैवाहिक जीवन

सामान्य तौर पर, विवाह सुखी और शांतिपूर्ण रहेगा। 

रेवती में जन्मी महिलाओं को अध्यात्म में रुचि होगी।

उपाय

रेवती नक्षत्र में जन्म लेने वालों के लिए चन्द्र, शुक्र और राहु की दशाएं आमतौर पर प्रतिकूल होती हैं। 

वे निम्नलिखित उपाय कर सकते हैं।

मंत्र

ॐ पूष्णे नमः

रेवती नक्षत्र

  • स्वामी - पूषा
  • अधीश ग्रह - बुध
  • पशु - हाठी
  • वृक्ष - महुआ
  • पक्षी - मोर
  • भूत - आकाश
  • गण - देव
  • योनि - हाथी (स्त्री)
  • नाडी - अन्त्य
  • प्रतीक - मछली

 

59.2K
1.2K

Comments

p64yk
वेदधारा को हिंदू धर्म के भविष्य के प्रयासों में देखकर बहुत खुशी हुई -सुभाष यशपाल

बहुत बढिया चेनल है आपका -Keshav Shaw

वेदधारा ने मेरी सोच बदल दी है। 🙏 -दीपज्योति नागपाल

🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 -मदन शर्मा

🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 -User_sdh76o

Read more comments

गायत्री मंत्र के देवता कौन है?

गायत्री मंत्र के देवता सविता यानि सूर्य हैं। परंतु मंत्र को स्त्रीरूप मानकर गायत्री, सावित्री, और सरस्वती को भी इस मंत्र के अभिमान देवता मानते हैं।

सुदर्शन चक्र शाबर मंत्र

ॐ विष्णु चक्र चक्रौति भार्गवन्ति, सैहस्त्रबाहु चक्रं चक्रं चक्रौती युद्धं नाष्यटष्य नाष्टष्य चल चक्र, चक्रयामि चक्रयामि. काल चक्रं भारं उन्नतै करियन्ति करियन्ति भास्यामि भास्यामि अड़तालिशियं भुजगेन्द्र हारं सुदर्शन चक्रं चलायामि चलायामि भुजा काष्टं फिरयामि फिरयामि भूर्व : भूवः स्वः जमुष्ठे जमुष्ठे चलयामि रुद्र ब्रह्म अंगुलानि ब्रासमति ब्रासमति करियन्ति यमामी यमामी ।

Quiz

वाली और सुग्रीव एक जैसे दिखते थे ? दोनों के बीच लडाई चल रही थी तो सुग्रीव को श्रीरामजी ने कैसे पहचाना ?
Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |