अनुराधा नक्षत्र

Anuradha Nakshatra symbol lotus

  

वृश्चिक राशि के ३ अंश २० कला से १६ अंश ४० कला तक जो नक्षत्र व्याप्त है उसे अनुराधा कहते हैं। 

वैदिक खगोल विज्ञान में यह सत्रहवां नक्षत्र है। 

आधुनिक खगोल विज्ञान के अनुसार अनुराधा नक्षत्र को β Acrab, δ Dschubba and π Fang Scorpionis कहते हैं।

व्यक्तित्व और विशेषताएं

अनुराधा नक्षत्र में जन्म लेने वालों की विशेषताएं -

  • बुद्धिमान
  • कड़ी मेहनती
  • निपुण
  • संवेगात्मक अस्थिरता
  • तनावपूर्ण
  • जीवन में आकस्मिक बदलाव
  • छोटी - छोटी बातों पर भी तनाव
  • विदेश में प्रगति
  • अपनी राय पर कायम रहता है
  • सहानुभूतिपूर्ण
  • चुनौतियों का सामना करने की क्षमता
  • प्रतिशोधपूर्ण
  • जल्दी उत्तेजित हो जानेवाला
  • धर्मपरायण
  • कला में दिलचस्पी
  • स्वतंत्र विचारधारा
  • जिद्दी
  • ऊर्जावान
  • प्रभावशाली
  • आत्म-विश्वासी
  • शक्तिशाली
  • मतलबी
  • स्वादिष्ठ भोजन में आसक्ति 

प्रतिकूल नक्षत्र

  • मूल
  • उत्तराषाढा
  • धनिष्ठा
  • मृगशिरा मिथुन राशि
  • आर्द्रा
  • पुनर्वसु मिथुन राशि

अनुराधा नक्षत्र में जन्म लेने वालों को इन दिनों महत्वपूर्ण कार्य नहीं करना चाहिए और इन नक्षत्रों में जन्मे लोगों के साथ भागीदारी नहीं करना चाहिए। 

स्वास्थ्य

अनुराधा नक्षत्र में जन्म लेने वालों को इन स्वास्थ्य से संबन्धित समस्याओं की संभावना है-

  • रक्त की कम मात्रा
  • मासिक धर्म की समस्याएं
  • दर्द
  • सर्दी और जुकाम
  • कब्ज़
  • बवासीर
  • कूल्हे का अस्थिभंग
  • गले और गर्दन में दर्द

व्यवसाय

अनुराधा नक्षत्र में जन्म लेने वालों के लिए कुछ अनुकूल व्यवसाय-

  • खनन
  • पेट्रोलियम
  • दवाएँ
  • डॉक्टर
  • क्रिमिनोलॉजिस्ट
  • संगीत 
  • वाद्ययंत्र
  • चमड़े और हड्डियों का उद्योग
  • ऊन उद्योग
  • दंत चिकित्सक
  • ड्रेनेज संबंधित
  • खाद्य तेल
  • सुरक्षा
  • जज
  • जेल अधिकारी
  • फिल्म अभिनेता
  • तांत्रिक

क्या अनुराधा नक्षत्र वाला व्यक्ति हीरा धारण कर सकता है?

नहीं।

भाग्यशाली रत्न

नीलम।

अनुकूल रंग

काला, गहरा नीला, लाल।

अनुराधा नक्षत्र में जन्मे बच्चे का नाम

अनुराधा नक्षत्र के लिए अवकहडादि पद्धति के अनुसार नाम का प्रारंभिक अक्षर हैं-

  • पहला चरण - ना
  • दूसरा चरण - नी
  • तीसरा चरण - नू
  • चौथा चरण - ने

नामकरण संस्कार के समय रखे जाने वाले पारंपरिक नक्षत्र-नाम के लिए इन अक्षरों का उपयोग किया जा सकता है।

शास्त्र के अनुसार नक्षत्र-नाम के अलावा एक व्यावहारिक नाम भी होना चाहिए जो रिकॉर्ड में आधिकारिक नाम रहेगा। उपरोक्त प्रणाली के अनुसार रखे जाने वाला नक्षत्र-नाम केवल परिवार के करीबी सदस्यों को ही पता होना चाहिए।

अनुराधा नक्षत्र में जन्म लेने वालों के व्यावहारिक नाम इन अक्षरों से प्रारंभ न करें - अ, आ, इ, ई, श, स, क, ख, ग, घ।

वैवाहिक जीवन

अनुराधा नक्षत्र में जन्मी महिलाएं सरल जीवन जीना पसंद करती हैं। 

वे पति के प्रति पवित्र और स्नेही होती हैं। 

पुरुषों को अपने स्वार्थी और अड़ियल स्वभाव को नियंत्रण में रखना चाहिए।

उपाय

अनुराधा नक्षत्र में जन्म लेने वालों के लिए सूर्य, मंगल और केतु की दशाएं आमतौर पर प्रतिकूल होती हैं। 

वे निम्नलिखित उपाय कर सकते हैं।

मंत्र

ॐ मित्राय नमः 

अनुराधा नक्षत्र

  • स्वामी - मित्र
  • अधीश ग्रह - शनि
  • पशु - हिरण
  • वृक्ष - बकुल
  • पक्षी - कौआ
  • भूत - अग्नि
  • गण - देव
  • योनि - हिरण(स्त्री)
  • नाडी - मध्य
  • प्रतीक - कमल

 

86.8K

Comments

wxwG6
आपके शास्त्रों पर शिक्षाएं स्पष्ट और अधिकारिक हैं, गुरुजी -सुधांशु रस्तोगी

वेदधारा की वजह से मेरे जीवन में भारी परिवर्तन और सकारात्मकता आई है। दिल से धन्यवाद! 🙏🏻 -Tanay Bhattacharya

यह वेबसाइट ज्ञान का अद्वितीय स्रोत है। -रोहन चौधरी

🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 -मदन शर्मा

यह वेबसाइट अत्यंत शिक्षाप्रद है।📓 -नील कश्यप

Read more comments

शिव पुराण के अनुसार भस्म लगाने के लिए कौन से स्थान अनुशंसित हैं?

शिव पुराण में माथे, दोनों हाथों, छाती और नाभि पर भस्म लगाने की सलाह दी गई है।

शिव योगी कौन है?

भगवान शिव में विलय हो जाने को शिव योग कहते हैं। कोई भी व्यक्ति जिसका भगवान शिव में विलय हो चुका है या इसके लिए बताये गये अभ्यास का आचरण कर रहा है, वह है शिव योगी।

Quiz

कामधेनु का अर्थ क्या है?
Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |