नवग्रह मंत्र

Navgrah

 

सूर्य मंत्र

ॐ घृणिः सूर्याय नमः

ॐ ह्रीं ह्रौं सूर्याय नमः

चन्द्र मंत्र

ॐ सों सोमाय नमः

ॐ ऐं क्लीं सोमाय नमः

मंगल मंत्र

ॐ अं अङ्गारकाय नमः

ॐ ह्रूं श्रीं भौमाय नमः

बुध मंत्र

ॐ बुं बुधाय नमः

ॐ ऐं श्रीं श्रीं बुधाय नमः

गुरु मंत्र

ॐ बृं बृहस्पतये नमः

ॐ ह्रीं क्लीं हूँ बृहस्पतये नमः

शुक्र मंत्र

ॐ शुं शुक्राय नमः

ॐ ह्रीं श्रीं शुक्राय नमः

शनि मंत्र

ॐ शं शनैश्चराय नमः

ॐ ऐं ह्रीं श्रीं शनैश्चराय नमः

राहु मंत्र

ॐ रां राहवे नमः

ॐ ऐं ह्रीं राहवे नमः

केतु मंत्र

ॐ कें केतवे नमः

ॐ ह्रीं ऐं केतवे नमः

 

58.6K
1.2K

Comments

ebx2e
वेद पाठशालाओं और गौशालाओं के लिए आप जो अच्छा काम कर रहे हैं, उसे देखकर बहुत खुशी हुई 🙏🙏🙏 -विजय मिश्रा

वेदधारा के कार्यों से हिंदू धर्म का भविष्य उज्जवल दिखता है -शैलेश बाजपेयी

आपके प्रवचन हमेशा सही दिशा दिखाते हैं। 👍 -स्नेहा राकेश

यह वेबसाइट ज्ञान का खजाना है। 🙏🙏🙏🙏🙏 -कीर्ति गुप्ता

वेदधारा की सेवा समाज के लिए अद्वितीय है 🙏 -योगेश प्रजापति

Read more comments

श्रीकृष्ण के चरणों में स्थान

अष्टम भाव के ऊपर चन्द्रमा, गुरु और शुक्र तीनों ग्रहों की दृष्टि हो तो देहांत के बाद भगवान श्रीकृश्ष्ण के चरणों में स्थान मिलेगा।

Quiz

ज्योतिष में ग्रहों का राजा कौन है ?
Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |