ज्येष्ठा नक्षत्र

Jyeshta Nakshatra symbol umbrella

  

वृश्चिक राशि के १६ अंश ४० कला से ३० अंश तक जो नक्षत्र व्याप्त है उसे ज्येष्ठा कहते हैं। 

वैदिक खगोल विज्ञान में यह अठारहवां नक्षत्र है। 

आधुनिक खगोल विज्ञान के अनुसार ज्येष्ठा नक्षत्र को α "Antares", σ, and τ "Paikauhale" Scorpionis कहते हैं।

व्यक्तित्व और विशेषताएं

ज्येष्ठा नक्षत्र में जन्म लेने वालों की विशेषताएं -

  • बुद्धिमान
  • सक्रिय
  • चंचल मन
  • आत्मविश्वास की कमी
  • गूढ शास्त्रों में रुचि
  • कुटिलता
  • गुस्सैल
  • मतलबी
  • सन्तानों से तकलीफ
  • जन्मभूमि से दूर रहनेवाला
  • कार्यक्षेत्र में बार - बार बदलाव
  • स्वस्थ
  • जीवन के पहले भाग के दौरान परेशानी
  • रिश्तेदारों की मदद करना पसंद नहीं
  • बड़े भाई - बहनों के साथ अनबन
  • सुशिक्षित
  • निपुण
  • हाजिरजवाब
  • जिज्ञासु
  • कलहप्रिय

प्रतिकूल नक्षत्र

  • पूर्वाषाढा
  • श्रवण
  • शतभिषा
  • मृगशिरा मिथुन राशि
  • आर्द्रा
  • पुनर्वसु मिथुन राशि

ज्येष्ठा नक्षत्र में जन्म लेने वालों को इन दिनों महत्वपूर्ण कार्य नहीं करना चाहिए और इन नक्षत्रों में जन्मे लोगों के साथ भागीदारी नहीं करना चाहिए। 

स्वास्थ्य

ज्येष्ठा नक्षत्र में जन्म लेने वालों को इन स्वास्थ्य से संबन्धित समस्याओं की संभावना है-

  • ल्यूकोडर्मा
  • बवासीर
  • यौन रोग
  • कंधे का दर्द
  • हाथों में दर्द
  • अर्बुद 

व्यवसाय

ज्येष्ठा नक्षत्र में जन्म लेने वालों के लिए कुछ अनुकूल व्यवसाय-

  • मुद्रण
  • प्रकाशन
  • स्याही और रंग उद्योग
  • तार और केबल उद्योग
  • विज्ञापन
  • लिनेन
  • फर्नेस और बॉयलर
  • मोटर और पंप
  • केमिकल इंजीनियर
  • निर्माण
  • ड्रेनेज संबंधित
  • बीमा
  • स्वास्थ्य उद्योग
  • मिलिट्री
  • जज
  • डाक विभाग
  • कूरियर
  • जेल अधिकारी 

क्या ज्येष्ठा नक्षत्र वाला व्यक्ति हीरा धारण कर सकता है?

नहीं।

भाग्यशाली रत्न

पन्ना।

अनुकूल रंग

लाल, हरा।

ज्येष्ठा नक्षत्र में जन्मे बच्चे का नाम

ज्येष्ठा नक्षत्र के लिए अवकहडादि पद्धति के अनुसार नाम का प्रारंभिक अक्षर हैं-

  • पहला चरण - नो
  • दूसरा चरण - या
  • तीसरा चरण - यी
  • चौथा चरण - यू

नामकरण संस्कार के समय रखे जाने वाले पारंपरिक नक्षत्र-नाम के लिए इन अक्षरों का उपयोग किया जा सकता है।

शास्त्र के अनुसार नक्षत्र-नाम के अलावा एक व्यावहारिक नाम भी होना चाहिए जो रिकॉर्ड में आधिकारिक नाम रहेगा। उपरोक्त प्रणाली के अनुसार रखे जाने वाला नक्षत्र-नाम केवल परिवार के करीबी सदस्यों को ही पता होना चाहिए।

ज्येष्ठा नक्षत्र में जन्म लेने वालों के व्यावहारिक नाम इन अक्षरों से प्रारंभ न करें - अ, आ, इ, ई, श, स, क, ख, ग, घ।

वैवाहिक जीवन

सामान्य रूप से विवाह सुखी और आरामदायक रहेगा। 

महिलाओं को विवाह में कभी कभी कठिनाई का सामना करना पडेगा।

उपाय

ज्येष्ठा नक्षत्र में जन्म लेने वालों के लिए सूर्य, गुरु और शुक्र की दशाएं आमतौर पर प्रतिकूल होती हैं। 

वे निम्नलिखित उपाय कर सकते हैं।

मंत्र

ॐ इन्द्राय नमः 

ज्येष्ठा नक्षत्र

  • स्वामी - इन्द्र
  • अधीश ग्रह - बुध
  • पशु - काकड
  • वृक्ष - Aporosa lindleyana
  • पक्षी - मुर्गा
  • भूत - वायु
  • गण - असुर
  • योनि - हिरण(पुरुष)
  • नाडी - आद्य
  • प्रतीक - छतरी

 

Recommended for you

 

Video - Jyeshtha Nakshatra Mantra 

 

Jyeshtha Nakshatra Mantra

 

 

Video - JYESHTHA Nakshatra Star Mantra 

 

JYESHTHA Nakshatra Star Mantra

 

 

Video - Eka Sloki Sundarakandam 

 

Eka Sloki Sundarakandam

 

Ramaswamy Sastry and Vighnesh Ghanapaathi

Copyright © 2022 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |
Vedahdara - Personalize
Active Visitors:
4028726