मानो हि महतां धनम्

अधमा धनमिच्छन्ति धनं मानं च मध्यमाः|

उत्तमा मानमिच्छन्ति मानो हि महतां धनम्|
 
 
अधम लोग सिर्फ धन की इच्छा रखने वाले होते हैं, वे मान-सम्मान मिले या न मिले उस की चिन्ता नहीं करते| मध्यम लोग मान और धन - इन दोनों की चाहत रखने वाले होते हैं| उत्तम लोग वे होते हैं जो सिर्फ आदर पाने की इच्छा रखते हैं| क्योंकि इस संसार में मान ही सबसे बडा धन होता है|
 
66.6K

Comments

fttxb
वेदधारा के साथ ऐसे नेक काम का समर्थन करने पर गर्व है - अंकुश सैनी

वेदधारा का कार्य सराहनीय है, धन्यवाद 🙏 -दिव्यांशी शर्मा

वेदधारा की वजह से हमारी संस्कृति फल-फूल रही है 🌸 -हंसिका

यह वेबसाइट अत्यंत शिक्षाप्रद है।📓 -नील कश्यप

वेदधारा की धर्मार्थ गतिविधियों में शामिल होने पर सम्मानित महसूस कर रहा हूं - समीर

Read more comments

गोलोक कहां है?

महाभारत अनुशासनपर्व.८३.१४ के अनुसार गोलोक देवताओं के लोकों के ऊपर है- देवानामुपरिष्टाद् यद् वसन्त्यरजसः सुखम्।

गौ माता की प्रार्थना क्या है?

ऋद्धिदां वृद्धिदां चैव मुक्तिदां सर्वकामदाम्। लक्ष्मीस्वरूपां परमां राधां सहचरीं पराम्। गवामधिष्ठातृदेवीं गवामाद्यां गवां प्रसूम्। पवित्ररूपां पूज्यां च भक्तानां सर्वकामदाम्। यया पूतं सर्वविश्वं तां देवीं सुरभीं भजे।

Quiz

भरद्वाज आश्रम कहां पर है ?
Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |