महतामेकरूपता

उदये सविता रक्तो रक्तश्चास्तमये तथा|
सम्पत्तौ च विपत्तौ च महतामेकरूपता|

 

सूर्योदय के समय में सूर्य लाल रंग का होता है| सूर्यास्त के समय मे भी सूर्य लाल रंग का ही होता है| ऐसे ही महान लोग संपत्ति के आने पर या विपत्ति के आने पर एक ही प्रकार से रहते हैं| वे न संपत्ति के आने पर खुश होते है और न ही विपत्ति के आने पर दुखी होते हैं|

 

Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |