रघुनाथ मंदिर, जम्मू

रघुनाथ मंदिर -  विवरणात्मक परिचय 

इस परिसर में मुख्य मंदिर दशरथ के पुत्र रघुवंश की कीर्ति को अमर करने वाले श्रीराम, उनकी पत्नी सीता तथा उनके स्नेही और सेवक लक्ष्मण का है। श्रीराम की मूर्ति काले संगमरमर की है और सीता तथा लक्ष्मण की श्वेत संगमरमर की। इस मंदिर के इर्द-गिर्द चौदह दूसरे विशाल मंदिर भी स्थापित हैं जिनमें क्रम से शेषनाग की शैया पर विश्राम करते हुए विष्णु और उनकी चरण सेवा करती हुई लक्ष्मी, गणपति गणेश, कैकेयी के पुत्र भरत, सुमित्रा के छोटे पुत्र और लक्ष्मण के छोटे भाई शत्रुघ्न, नृसिंह, राधा-कृष्ण, वामन, वराह, महालक्ष्मी, मत्स्य, कश्यप, विराट, भगवान् शिव और सूर्य तथा सत्यनारायण की आदमकद मूर्ति हैं । रघुनाथ जी का मन्दिर सबसे बड़ा और सबसे ऊंचा है। इस मंदिर परिसर के चारों कोनों में स्थित गणेश, राधा-कृष्ण, महालक्ष्मी और शिव के मंदिर इससे कुछ छोटे हैं तथा इन सब पर कलश हैं।।

बाकी के दस मंदिर बड़े-बड़े होने पर भी ऊंचाई और विशालता में इनसे कुछ कम हैं। श्रीरघुनाथ मंदिर की पहली परिक्रमा में जयविजय, राहु-केतु, शनिदेव, पूर्वदिशा, दक्षिणदिशा, पश्चिमदिशा और उत्तरदिशा की छोटी-छोटी मूर्तियां हैं। पूरी परिक्रमा संगमरमर की सफेद और काले रंग की शिलाओं से सुशोभित है। 

आगे पढने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

रघुनाथ मंदिर, जम्मू

Recommended for you

 

 

Video - SHRI RAGHUNATH JI KI AARTI 

 

SHRI RAGHUNATH JI KI AARTI

 

 

 

Ramaswamy Sastry and Vighnesh Ghanapaathi

Copyright © 2022 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |
Vedahdara - Personalize