मूल नक्षत्र

Mula Nakshatra symbol elephant goad

  

धनु राशि के ० अंश से १३ अंश २० कला तक जो नक्षत्र व्याप्त है उसे मूल कहते हैं। 

वैदिक खगोल विज्ञान में यह उन्नीसवां नक्षत्र है। 

आधुनिक खगोल विज्ञान के अनुसार मूल नक्षत्र को ε "Larawag", ζ, η, θ "Sargas", ι, κ, λ "Shaula", μ and ν "Jabbah" Scorpionis कहते हैं।

व्यक्तित्व और विशेषताएं

मूल नक्षत्र में जन्म लेने वालों की विशेषताएं -

  • अहंकारी
  • सम्मानित
  • श्रीमान
  • मृदु भाषी
  • शांतिपूर्ण
  • कभी - कभी बेचैन
  • जीवन का मजा लेनेवाला
  • उड़ाऊ
  • स्वतंत्र विचारधारा
  • काम में निपुण
  • अध्यात्म में रुचि
  • न्याय परायण
  • धर्मपरायण
  • उपकारी
  • दयावान
  • भाग्यवान
  • बहादुर
  • नेतृत्व के गुण
  • दृढ निर्णय
  • कानून का पालन करनेवाला
  • पिता से समर्थन नहीं
  • उदार
  • सहनशीलता
  • आशावादी
  • स्नेही
  • प्रफुल्लित
  • अंधविश्वासी

प्रतिकूल नक्षत्र

  • उत्तराषाढा
  • धनिष्ठा
  • पूर्वा भाद्रपग
  • पुनर्वसु कर्क राशि
  • पुष्य
  • आश्लेषा

मूल नक्षत्र में जन्म लेने वालों को इन दिनों महत्वपूर्ण कार्य नहीं करना चाहिए और इन नक्षत्रों में जन्मे लोगों के साथ भागीदारी नहीं करना चाहिए। 

स्वास्थ्य

मूल नक्षत्र में जन्म लेने वालों को इन स्वास्थ्य से संबन्धित समस्याओं की संभावना है-

  • पीठ दर्द
  • संधिशोथ
  • सांस की बीमारियां
  • रक्तचाप
  • मानसिक विकार 

व्यवसाय

मूल नक्षत्र में जन्म लेने वालों के लिए कुछ अनुकूल व्यवसाय-

  • आध्यात्मिक क्षेत्र
  • ज्योतिष
  • पुरोहित
  • कथाख्यान
  • डिप्लोमैट
  • द्विभाषी
  • डॉक्टर
  • दवाएँ
  • सलाहकार
  • समाज कार्य
  • कानूनी पेशा
  • राजनीति
  • पत्रकार 

क्या मूल नक्षत्र वाला व्यक्ति हीरा धारण कर सकता है?

नहीं।

भाग्यशाली रत्न

वैडूर्य।

अनुकूल रंग

सफेद, पीला।

मूल नक्षत्र में जन्मे बच्चे का नाम

मूल नक्षत्र के लिए अवकहडादि पद्धति के अनुसार नाम का प्रारंभिक अक्षर हैं-

  • पहला चरण - ये
  • दूसरा चरण - यो
  • तीसरा चरण - भा
  • चौथा चरण - भी

नामकरण संस्कार के समय रखे जाने वाले पारंपरिक नक्षत्र-नाम के लिए इन अक्षरों का उपयोग किया जा सकता है।

शास्त्र के अनुसार नक्षत्र-नाम के अलावा एक व्यावहारिक नाम भी होना चाहिए जो रिकॉर्ड में आधिकारिक नाम रहेगा। उपरोक्त प्रणाली के अनुसार रखे जाने वाला नक्षत्र-नाम केवल परिवार के करीबी सदस्यों को ही पता होना चाहिए।

मूल नक्षत्र में जन्म लेने वालों के व्यावहारिक नाम इन अक्षरों से प्रारंभ न करें - उ, ऊ, ऋ, ष, ए, ऐ, ह, च, छ, ज, झ।

वैवाहिक जीवन

मूल नक्षत्र में जन्मी महिलाएं हावी हो सकती हैं। 

उनका वैवाहिक जीवन कष्टमय हो सकता है। 

उपाय

मूल नक्षत्र में जन्म लेने वालों के लिए सूर्य, मंगल और बृहस्पति की दशाएं आमतौर पर प्रतिकूल होती हैं। 

वे निम्नलिखित उपाय कर सकते हैं।

मंत्र

निर्ऋतये नमः

मूल नक्षत्र

  • स्वामी - निर्ऋति
  • अधीश ग्रह - केतु
  • पशु - कुत्ता
  • वृक्ष - Vateria indica
  • पक्षी - मुर्गा
  • भूत - वायु
  • गण - असुर
  • योनि - कुत्ता (पुरुष)
  • नाडी - आद्य
  • प्रतीक -अंकुश

 

Recommended for you

 

Video - Mula Nakshatra Japa 

 

Mula Nakshatra Japa

 

 

Video - Vakratunda Stava 

 

Vakratunda Stava

 

 

 

Ramaswamy Sastry and Vighnesh Ghanapaathi

Copyright © 2022 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |
Vedahdara - Personalize
Active Visitors:
4028726