Kamakhya Mantra

kamakhya mantra hindi pdf sample page

सर्प विष दूरीकरण मंत्र

ॐ तमहानी ऊदर महानी वासुन्थरो विश्वकृहाला हलोना प्ययहति ठः ठः।

इस मंत्र को पढकर गो धूमाकी जड जल में पीस पिलावे विष दूर होय।

आगे पढने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

 

 

44.7K

Comments

xawiv
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 -मदन शर्मा

बहुत बढिया चेनल है आपका -Keshav Shaw

Om namo Bhagwate Vasudevay Om -Alka Singh

Ram Ram -Aashish

प्रणाम गुरूजी 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 -प्रभास

Read more comments

सुदर्शन चक्र शाबर मंत्र

ॐ विष्णु चक्र चक्रौति भार्गवन्ति, सैहस्त्रबाहु चक्रं चक्रं चक्रौती युद्धं नाष्यटष्य नाष्टष्य चल चक्र, चक्रयामि चक्रयामि. काल चक्रं भारं उन्नतै करियन्ति करियन्ति भास्यामि भास्यामि अड़तालिशियं भुजगेन्द्र हारं सुदर्शन चक्रं चलायामि चलायामि भुजा काष्टं फिरयामि फिरयामि भूर्व : भूवः स्वः जमुष्ठे जमुष्ठे चलयामि रुद्र ब्रह्म अंगुलानि ब्रासमति ब्रासमति करियन्ति यमामी यमामी ।

कौन सा शक्तिपीठ वर्तमान में पाकिस्तान में है?

हिंगलाज माता मंदिर, बलूचिस्तान।

Quiz

अज्ञातवास के समय राजा विराट के पास रहते वक्त युधिष्ठिर का क्या नाम था ?

___ गरल पर नींबू मन्त्र आदेश देवी मनसा कागजी निबुआ रस से सरी। तेरे गुणन से विष जाय करी । ऊपर न जा विष । रह तूं मुंडलाए । विषहरिके दुहाई से चल जाय।
नींबू को तीन बार मन्त्र पढ़ कर गरल स्थान पर लगावें।
कखरबाई का मन्त्र ओं नमः कखरवाई की मरी तलाई । तहं बैठे हनुसन्ता आई। पाके न फूटे न पिराय चलै चलै वाल यति सहाय गुरु गोरखनाथ दोहाय । इस मन्त्रले २१ बार नीमकी डाली से ३ दिन झाडै जानु व पसली, डमरू वायु तीनोंका एक मंत्र ।
ओं नमो खंखारी खंखारा कता गया सवा लाख परवतो गया सवालाख परवतो जाय काह करेगा सवाभार कोइला करेगा सवाभार । कोइलाकर कहा करेगा हनुमंत वीरका नवचन्द्रहास गढ़ेगा नवचन्द्र हास खड्ग गढ़िके काहे करेगा जानु वहमरू पसुली वाईकाट कूट नोना समुद्रपार फेंकेगा। गुरूकीशक्ति मेरी भक्ति फुरो मन्त्र ईश्वरो वाचा । ____ इस मन्त्र द्वारा सिन्दूर तिल तैल से तीर के सहारे झारै । पहले हजार मन्त्र जप सिद्ध करे।
___ ऊवा डबका का मंत्र ओं नमः खवारी खवारा, कहाँ गया सवा लाख पर्वतो गया। सवा लाख पर्वतो जाई काहे किया, लड़की कटाया । लकड़ी कटाई काहे किया,कोइला कराया, कोइला कराई काहेकिया, छुरा गढ़ाया छुरा गढ़ाई काहे किया । ऊवा डबका हाड़ गोड़ कटाया गोड़ काटि काह किया कारी कमरिया लपेट समुद्र पार फेकाया । शब्द सांचा फुरो मंत्रो इश्वरोवाचा ।
पोलिया का मंत्र ओं नमः आदेश गुरु को श्री राम सर साधा लक्ष्मण साधा वाण कालापीला रीतानीलीथोथापीली पीला पीला चारो गिर जहिं तो श्री रामचन्द्रजी रहे नाम हमारी अंक्ति गुरु की शक्ति फुरो मंत्र ईश्वरावाचा |
सात शनिवार पीतल के कटोरा में पानी ले सुई से सात बारा ।
रोधन वायुका मन्त्र
ओम् नमो कामरू देश कामाख्या देवी जहां बसे इस्मायल योगी । इस्मायल योगी के तीन । बेटी, एक तोड़े एक पिछौड़े एक रींधन वायु को मोहर शब्द |
मङ्गलवार को मणियार (मतिहार) के मुरगी से
२१ बार करे ।
पेट व्यथा वायुगोला पिल्ही का मंत्र ओमनमो काली कङ्कालिनीनदीपार बसैइस्माल योगी लोहे का छोटा काटि २ लोहे का गोला काट काट तो शब्द सांचा फुरो मंत्र ईश्वरोवाचा | इस मंत्र से रविवार मङ्गल को चाकू से भूमि पर रेखा काटके करे ।

Ramaswamy Sastry and Vighnesh Ghanapaathi

Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |