चित्रा नक्षत्र

Chitra Nakshatra symbol pearl

  

कन्या राशि के २३ अंश २० कला से तुला राशि के ६ अंश ४० कला तक जो नक्षत्र व्याप्त है, उसे चित्रा कहते हैं।

वैदिक खगोल विज्ञान में यह चौदहवां नक्षत्र है। 

आधुनिक खगोल विज्ञान के अनुसार चित्रा नक्षत्र का नाम है Spica।

व्यक्तित्व और विशेषताएं  

चित्रा कन्या एवं तुला राशि दोनों के लिए

  • महत्त्वाकांक्षी
  • साहसी
  • दूरदर्शी
  • आकर्षक आँखें
  • कला में दिलचस्पी
  • दिखावा करने की प्रवृत्ति
  • उत्साही
  • विदेश में भाग्य
  • माँ से समर्थन
  • दरियादिल
  • जीवन का दूसरा आधा हिस्सा आरामदायक

सिर्फ चित्रा नक्षत्र कन्या राशि के लिए

  • सुन्दर
  • कड़ी मेहनती
  • अपनी बात अच्छी तरह से रखने का कौशल
  • निर्भय
  • सुशिक्षित
  • प्रफुल्लित
  • गुस्सैल
  • विवादप्रिय
  • चिड़चिड़ाहट 

सिर्फ चित्रा नक्षत्र तुला राशि के लिए

  • आदर्शवादी
  • विवेकी
  • वैज्ञानिक चिन्तन
  • अन्तःप्रज्ञा 

प्रतिकूल नक्षत्र

  • विशाखा
  • ज्येष्ठा
  • पूर्वाषाढा
  • चित्रा कन्या राशि के लिए - अश्विनी, भरणी, कृत्तिका मेष राशि
  • चित्रा तुला राशि के लिए - कृत्तिका वृषभ राशि, रोहिणी, मृगशिरा वृषभ राशि

चित्रा नक्षत्र में जन्म लेने वालों को इन दिनों महत्वपूर्ण कार्य नहीं करना चाहिए और इन नक्षत्रों में जन्मे लोगों के साथ भागीदारी नहीं करना चाहिए। 

स्वास्थ्य

चित्रा नक्षत्र में जन्म लेने वालों को इन स्वास्थ्य से संबन्धित समस्याओं की संभावना है- 

चित्रा नक्षत्र कन्या राशि

  • आंतों में व्रण
  • पेटदर्द
  • कृमि की समस्या
  • पेट पर खुजली
  • पैर में दर्द
  • कीडे इत्यादियों से विषाक्तन
  • जानवरों का हमला
  • हैजा
  • मूत्र संबंधी रोग
  • मूत्र प्रणाली में पत्थर 

चित्रा नक्षत्र तुला राशि

  • गुर्दे से संबंधित समस्याएं
  • मधुमेह
  • मूत्र प्रणाली में पत्थर
  • सिरदर्द
  • दिमागी बुखार
  • पीठ दर्द
  • लू लगना

व्यवसाय

चित्रा नक्षत्र में जन्म लेने वालों के लिए कुछ अनुकूल व्यवसाय- 

चित्रा कन्या राशि

  • मुद्रण
  • प्रकाशन
  • लेखक
  • गृह निर्माण
  • ब्रोकर
  • यातायात नियंत्रण
  • सुरक्षा
  • रक्षा सेवाएं
  • व्यापारी
  • कर अधिकारी
  • सरकारी सेवा
  • उत्पादन
  • बिजली विभाग
  • खनन
  • मैकेनिक
  • इंजीनियर
  • जेल अधिकारी
  • डॉक्टर
  • क्रिमिनोलॉजिस्ट
  • फ़िंगरप्रिंट विशेषज्ञ
  • इत्र
  • वस्त्र 

चित्रा तुला राशि

  • कानूनी पेशा
  • डॉक्टर
  • वैज्ञानिक
  • दार्शनिक
  • धर्म
  • ट्रेडिंग
  • कमीशन एजेंट
  • रक्षा सेवाएं
  • सुरक्षा
  • पुलिस
  • ठेकेदार
  • मुद्रण
  • चित्रालेख
  • मेकअप आर्टिस्ट
  • इत्र
  • तेल
  • विवाह सेवाएं
  • खेल
  • संगीत
  • वाद्ययंत्र
  • फोन
  • मापन एवं जाँच के एलेक्ट्रानिक उपकरण
  • गुणवत्ता नियंत्रण
  • रेटिंग
  • ईंधन
  • तंबाकू 

क्या चित्रा नक्षत्र वाला व्यक्ति हीरा धारण कर सकता है?

हां। अनुकूल है। 

भाग्यशाली रत्न

मूंगा 

अनुकूल रंग

चित्रा कन्या राशि - लाल, हरा

चित्रा तुला राशि - सफेद, हल्का नीला

चित्रा नक्षत्र में जन्मे बच्चे का नाम

चित्रा नक्षत्र के लिए अवकहडादि पद्धति के अनुसार नाम का प्रारंभिक अक्षर हैं-

  • पहला चरण - पे
  • दूसरा चरण - पो
  • तीसरा चरण - रा
  • चौथा चरण - री

नामकरण संस्कार के समय रखे जाने वाले पारंपरिक नक्षत्र-नाम के लिए इन अक्षरों का उपयोग किया जा सकता है।

शास्त्र के अनुसार नक्षत्र-नाम के अलावा एक व्यावहारिक नाम भी होना चाहिए जो रिकॉर्ड में आधिकारिक नाम रहेगा। उपरोक्त प्रणाली के अनुसार रखे जाने वाला नक्षत्र-नाम केवल परिवार के करीबी सदस्यों को ही पता होना चाहिए।

चित्रा नक्षत्र में जन्म लेने वालों के व्यावहारिक नाम इन अक्षरों से प्रारंभ न करें -

  • चित्रा कन्या राशि - प, फ, ब, भ, म, अ, आ, इ, ई, श, ओ, औ।
  • चित्रा तुला राशि - य, र ल, व, उ, ऊ, ऋ, ष, अं, अः, क्ष। 

वैवाहिक जीवन

चित्रा नक्षत्र में जन्मे लोगों में विवाहेतर संबंधों की प्रवृत्ति हो सकती है। 

उन्हें इससे दूर रहना चाहिए। 

महिलाओं के लिए वैवाहिक जीवन समृद्ध होगा, लेकिन कई कठिनाइयों के साथ। 

उपाय

चित्रा नक्षत्र में जन्म लेने वालों के लिए बुध, बृहस्पति और शुक्र की दशाएं आमतौर पर प्रतिकूल होती हैं। वे निम्नलिखित उपाय कर सकते हैं।

मंत्र

ॐ विश्वकर्मणे नमः

ॐ त्वष्ट्रे नमः 

चित्रा नक्षत्र

  • स्वामी - विश्वकर्मा / त्वष्टा
  • अधीश ग्रह - मंगल
  • पशु - बाघ
  • वृक्ष - बेल
  • पक्षी - कौआ
  • भूत - अग्नि
  • गण - असुर
  • योनि - बाघ ( स्त्री )
  • नाडी - अन्त्य
  • प्रतीक - मोती

 

48.2K

Comments

mt3y7
आपकी वेबसाइट बहुत ही अद्भुत और जानकारीपूर्ण है। -आदित्य सिंह

वेदधारा के कार्यों से हिंदू धर्म का भविष्य उज्जवल दिखता है -शैलेश बाजपेयी

वेदधारा के साथ ऐसे नेक काम का समर्थन करने पर गर्व है - अंकुश सैनी

वेदधारा की वजह से मेरे जीवन में भारी परिवर्तन और सकारात्मकता आई है। दिल से धन्यवाद! 🙏🏻 -Tanay Bhattacharya

अद्वितीय website -श्रेया प्रजापति

Read more comments

मंत्र कितने दिन में सिद्ध होता है?

हर मंत्र को सिद्ध करने के लिए उसके लिए बतायी गयी उतनी संख्या जाप करना जरूरी होता है। उतनी बार जाप करने से मंत्र सिद्ध होता है। कोई मंत्र एक ही दिन में, कोई मंत्र ७ दिनों में और कोई मंत्र २१ दिनों में सिद्ध होता है।

अनाहत चक्र के देवता कौन हैं?

अनाहत चक्र में पिनाकधारी भगवान शिव विराजमान हैं। अनाहत चक्र की देवी है काकिनी जो हंसकला नाम से भी जानी जाती है।

Quiz

नारायण शब्द का अर्थ क्या है?
Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |