लोगों के साथ सफलता के लिए मंत्र

67.4K

Comments

u64zk
वेदधारा के साथ ऐसे नेक काम का समर्थन करने पर गर्व है - अंकुश सैनी

आपकी मेहनत से सनातन धर्म आगे बढ़ रहा है -प्रसून चौरसिया

Om namo Bhagwate Vasudevay Om -Alka Singh

वेदधारा का कार्य अत्यंत प्रशंसनीय है 🙏 -आकृति जैन

मंत्र बहुत ही प्रभावशाली हैं। 😊 -kartik aich

Read more comments

अनाहत चक्र के देवता कौन हैं?

अनाहत चक्र में पिनाकधारी भगवान शिव विराजमान हैं। अनाहत चक्र की देवी है काकिनी जो हंसकला नाम से भी जानी जाती है।

शिव पुराण के अनुसार भस्म धारण करना क्यों महत्वपूर्ण है?

भस्म धारण करने से हम भगवान शिव से जुड़ते हैं, परेशानियों से राहत मिलती है और आध्यात्मिक संबंध बढ़ता है।

Quiz

अङ्गारक चतुर्थी क्या है ?

गोपालाकाय विद्महे गोपीप्रियाय धीमहि तन्नो गोपालकृष्णः प्रचोदयात्....

गोपालाकाय विद्महे गोपीप्रियाय धीमहि तन्नो गोपालकृष्णः प्रचोदयात्

Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |