यदि सन्ति गुणाः पुंसाम्

यदि सन्ति गुणाः पुंसां विकसन्त्येव ते स्वयम् |
नहि कस्तूरिकामोदः शपथेन विभाव्यते ||

 

यदि किसी मनुष्य में अच्छा गुण है तो वह अपने आप ही फैल जाता है | उस को हमें प्रचार करने की आवश्यकता नहीं हैं | कस्तूरी के सुगंध को तो सब जानते हैं | उस को सिद्ध और उस का प्रचार नहीं करना पडता | उसी प्रकार अच्छे गुण वाले मनुष्य स्वयं ही सिद्ध और प्रकाशित हो जाएंगे |

 

82.1K

Comments

Gctr3
❤️❤️ -यदि सन्ति गुणाः पुंसाम्

🙏 -User_scrfd9

सही बात! -पवन कुमार

Om namo Bhagwate Vasudevay Om -Alka Singh

🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 -User_sdh76o

Read more comments

हैदराबाद के पास कौन सा ज्योतिर्लिंग है?

हैदराबाद से २१५ कि.मी. दूरी पर श्रीशैल पर्वत पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग स्थित है।

महाभारत के युद्ध में कितनी सेना थी?

महाभारत के युद्ध में कौरव पक्ष में ११ और पाण्डव पक्ष में ७ अक्षौहिणी सेना थी। २१,८७० रथ, २१,८७० हाथी, ६५, ६१० घुड़सवार एवं १,०९,३५० पैदल सैनिकों के समूह को अक्षौहिणी कहते हैं।

Quiz

उपनयन संस्कार के साथ बच्चे का किसके साथ संबंध हो जाता है ?
Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |