मान सम्मान के लिए मंत्र

मान सम्मान के लिए मंत्र

ॐ काला भैरुँ कपिला केश कानो कुण्डल भगवा वेष । तिर पतर लियो हाथ, चौंसठ जोगनियाँ खेले पास, आस माई। पास माई, पास माई । सीस माई सामने -सामने गादी बैठे राजा, पीड़ो बैठे प्रजा मोहि, राजा को बनाऊँ कूकड़ा। प्रजा को बनाऊँ गुलाम शब्द साँचा, पिण्ड काँचा, राजगुरु का वचन जुग जुग साँचा ।



विधि - यह मंत्र ११ दिन में सिद्ध हो जाता है । हर दिन दो माला करें । जाप से पहले भैरव जी का फोटो रखकर पूजा करें । ११ वें दिन दशांश हवन, भोग में मद्य, मांस, लड्डू, दहीबड़े, नारियल, बाकला सवा पाव रोट सवा पाव, लाल कनेर के फूल अर्पित करें । मंत्र सिद्ध होने पर जिस स्थान पर मान सम्मान चाहिए, मंत्र जापकर फूँक मारें ।

57.4K

Comments

stwrm
अनुभव किया है... सही है👍 -अखिल मिश्रा

सिद्ध करने का बाद ही करो🙏 -User_sd5im2

जय जय कालभैरव महाराज की जय🌹🌹🌹🙏🙏🙏 -kapil

मुझे समाज में सम्मान दीजिए... भगवान....परेशान कर रखा है...🙏🙏 -User_sd5ipp

😌😌🙏🙏 -User_sd5iq9

Read more comments

मकर संक्रांति के दिन पानी में क्या डालकर स्नान करते हैं?

मकर संक्रांति के दिन पानी में तुलसी डालकर स्नान करना चाहिए।

गोदान की विधि

सुपुष्ट सुंदर और दूध देने वाली गाय को बछडे के साथ दान में देना चाहिए। न्याय पूर्वक कमायी हुई धन से प्राप्त होनी चाहिए गौ। कभी भी बूढी, बीमार, वंध्या, अंगहीन या दूध रहित गाय का दान नही करना चाहिए। गाय को सींग में सोना और खुरों मे चांदी पहनाकर कांस्य के दोहन पात्र के साथ अच्छी तरह पूजा करके दान में देते हैं। गाय को पूरब या उत्तर की ओर मुह कर के खडा करते हैं और पूंछ पकडकर दान करते हैं। स्वीकार करने वाला जब जाने लगता है तो उसके पीछे पीछे आठ दस कदम चलते हैं। गोदान का मंत्र- गवामङ्गेषु तिष्ठन्ति भुवनानि चतुर्दश। तस्मादस्याः प्रदानेन अतः शान्तिं प्रयच्छ मे।

Quiz

कुरुवंश के किस राजा को अगस्त्य मुनि ने शाप देकर सांप बना दिया था?
Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |