बाल प्रश्नोत्तरी

bal prashnottari pdf book sample page

धर्म-सम्बन्धी तात्त्विक बाल-प्रश्नोत्तरी

ईश्वर क्या है? 

यह तो नहीं बताया जा सकता; क्योंकि कौन कितना बड़ा विद्वान् है, यह बात उससे बड़ा विद्वान् ही ठीक-ठीक बता सकता है और ईश्वर से बड़ा कोई है नहीं। सर्वशक्तिमान् ईश्वर पूरी तरह ठीक-ठीक न जाना जा सकता है, न उसका वर्णन ही हो सकता है। लेकिन ईश्वर है, यह बात सवा सोलह आने सच्ची है। जैसे कपड़े को देखकर, उसका कोई बनानेवाला है, यह समझा जाता है, वैसे ही संसार का भी कोई बनानेवाला होना चाहिये, यह स्पष्ट है। संसार इतना नियमपूर्वक चलता है और फिर इतनी आश्चर्यजनक घटनाएँ इस संसार में होती रहती हैं कि उन घटनाओं का बड़े-बड़े वैज्ञानिक भी कोई कारण नहीं समझ पाते। इन सब बातोंसे ईश्वरकी सत्ता सिद्ध होती है।

PDF Book पढने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

 

 

100.6K

Comments

7Gqcf
आप जो अच्छा काम कर रहे हैं, उसे देखकर बहुत खुशी हुई 🙏🙏 -उत्सव दास

शास्त्रों पर गुरुजी का मार्गदर्शन गहरा और अधिकारिक है 🙏 -Ayush Gautam

वेदधारा का कार्य अत्यंत प्रशंसनीय है 🙏 -आकृति जैन

बहुत प्रेरणादायक 👏 -कन्हैया लाल कुमावत

वेदधारा के धर्मार्थ कार्यों में समर्थन देने पर बहुत गर्व है 🙏🙏🙏 -रघुवीर यादव

Read more comments

महाभारत के अनुसार गांधारी को सौ पुत्र कैसे प्राप्त हुए?

गांधारी ने ऋषि व्यास जी से सौ शक्तिशाली पुत्रों का वरदान मांगा। व्यास जी के आशीर्वाद से वह गर्भवती हो गई, लेकिन उसे लंबे समय तक गर्भधारण का सामना करना पड़ा। जब कुंती के पुत्र का जन्म हुआ तो गांधारी को निराशा हुई और उसने अपने पेट पर प्रहार किया। उसके पेट से मांस का एक लोथड़ा निकला। व्यास जी फिर आए, कुछ अनुष्ठान किए और एक अनोखी प्रक्रिया के माध्यम से उस गांठ को सौ बेटों और एक बेटी में बदल दिया। यह कहानी प्रतीकवाद से समृद्ध है, जो धैर्य, हताशा और दैवीय हस्तक्षेप की शक्ति के विषयों पर प्रकाश डालती है। यह मानवीय कार्यों और दैवीय इच्छा के बीच परस्पर क्रिया को दर्शाता है।

ब्रह्मा की आयु कितनी है?

ब्रह्मा की आयु ३,११,०४.००,००,००,००,०० मानव-वर्ष है।

Quiz

राजा हरिश्चन्द्र को किस ऋषि ने कष्ट पहुंचाया था ?
Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |