बाल प्रश्नोत्तरी

धर्म-सम्बन्धी तात्त्विक बाल-प्रश्नोत्तरी

ईश्वर क्या है? 

यह तो नहीं बताया जा सकता; क्योंकि कौन कितना बड़ा विद्वान् है, यह बात उससे बड़ा विद्वान् ही ठीक-ठीक बता सकता है और ईश्वर से बड़ा कोई है नहीं। सर्वशक्तिमान् ईश्वर पूरी तरह ठीक-ठीक न जाना जा सकता है, न उसका वर्णन ही हो सकता है। लेकिन ईश्वर है, यह बात सवा सोलह आने सच्ची है। जैसे कपड़े को देखकर, उसका कोई बनानेवाला है, यह समझा जाता है, वैसे ही संसार का भी कोई बनानेवाला होना चाहिये, यह स्पष्ट है। संसार इतना नियमपूर्वक चलता है और फिर इतनी आश्चर्यजनक घटनाएँ इस संसार में होती रहती हैं कि उन घटनाओं का बड़े-बड़े वैज्ञानिक भी कोई कारण नहीं समझ पाते। इन सब बातोंसे ईश्वरकी सत्ता सिद्ध होती है।

PDF Book पढने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

 

 

bal prashnottari pdf book sample page

Recommended for you

 

 

Video - 9 पंचतंत्र कहानियाँ 

 

9 पंचतंत्र कहानियाँ

 

 

 

Ramaswamy Sastry and Vighnesh Ghanapaathi

Copyright © 2022 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |
Vedahdara - Personalize