नकारात्मकता से बचने के लिए शक्तिशाली नरसिंह मंत्र

34.3K

Comments

suvan

घर में कौन से देवता की पूजा करनी चाहिए?

घर में पूजा के लिए शास्त्रों में पंचायतन देवता मुख्य बताये गये हैं। ये हैं - गणेश, विष्णु, शिव, देवी और सूर्य। इन पांचों देवताओं की पूजा एक साथ में होती है।

कौन से मंदिर में सदा केसर आती थी?

आई माता मंदिर, बिलाडा, जोधपुर, राजस्थान। यहां के ज्योत से काजल जैसे केसर निकलता है।

Quiz

संतान प्राप्ति के लिये राजा दशरथ ने कौन सा यज्ञ किया था ?

ॐ नमो नृसिंहाय ज्वालामुखाग्निनेत्राय शङ्खचक्रगदाप्रहस्ताय । योगरूपाय हिरण्यकशिपुच्छेदनान्त्रमालाविभूषणाय हन हन दह दह वच वच रक्ष वो नृसिंहाय पूर्वदिशां बन्ध बन्ध रौद्रनृसिंहाय दक्षिणदिशां बन्ध बन्ध पावननृसिंहाय पश....

ॐ नमो नृसिंहाय ज्वालामुखाग्निनेत्राय शङ्खचक्रगदाप्रहस्ताय । योगरूपाय हिरण्यकशिपुच्छेदनान्त्रमालाविभूषणाय हन हन दह दह वच वच रक्ष वो
नृसिंहाय पूर्वदिशां बन्ध बन्ध रौद्रनृसिंहाय दक्षिणदिशां बन्ध बन्ध
पावननृसिंहाय पश्चिमदिशां बन्ध बन्ध दारुणनृसिंहाय उत्तरदिशां बन्ध बन्ध
ज्वालानृसिंहाय आकाशदिशां बन्ध बन्ध लक्ष्मीनृसिंहाय पातालदिशां बन्ध बन्ध
कः कः कम्पय कम्पय आवेशय आवेशय अवतारय अवतारय शीघ्रं शीघ्रम् ॥

ॐ नमो नारसिंहाय नवकोटिदेवग्रहोच्चाटनाय ।
ॐ नमो नारसिंहाय अष्टकोटिगन्धर्वग्रहोच्चाटनाय ।
ॐ नमो नारसिंहाय सप्तकोटिकिन्नरग्रहोच्चाटनाय ।
ॐ नमो नारसिंहाय षट्कोटिशाकिनीग्रहोच्चाटनाय ।
ॐ नमो नारसिंहाय पञ्चकोटिपन्नगग्रहोच्चाटनाय ।
ॐ नमो नारसिंहाय चतुष्कोटिब्रह्मराक्षसग्रहोच्चाटनाय ।
ॐ नमो नारसिंहाय द्विकोटिदनुजग्रहोच्चाटनाय ।
ॐ नमो नारसिंहाय एककोटिग्रहोच्चाटनाय ।
ॐ नमो नारसिंहाय अरिमुरिचोरराक्षसजितिः वारं वारम् । स्त्रीभयचोरभयव्याधिभयसकलभयकण्टकान् विध्वंसय विध्वंसय ।
शरणागतवज्रपञ्जराय विश्वहृदयाय प्रह्लादवरदाय क्ष्रौं श्रीं नृसिंहाय स्वाहा ।

Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |