चारों वेदों का प्रारम्भ

18.3K

Comments

v88eG
वेदधारा की धर्मार्थ गतिविधियों में शामिल होने पर सम्मानित महसूस कर रहा हूं - समीर

यह मंत्र सचमुच बहुत कारगर हैं। 👍 -अंश गुहा

इस मंत्र से सकारात्मकता मिलती है -bhupendra

यह वेबसाइट बहुत ही शिक्षाप्रद और विशेष है। -विक्रांत वर्मा

इन मंत्रों से मेरा जीवन बदल गया है। 🙏 -मधुकर यादव

Read more comments

Knowledge Bank

शिव जी को अद्वितीय क्यों कहते हैं?

क्यों कि शिव जी ही ब्रह्मा के रूप में सृष्टि, विष्णु के रूप में पालन और रुद्र के रूप में संहार करते हैं।

देवकी को कारागार क्यों जाना पडा?

अदिति और दिति कश्यप प्रजापति की पत्नियां थी। कश्यप से अदिति में बलवान इंन्द्र उत्पन्न हुए। इसे देखकर दिति जलने लगी। अपने लिे भी शक्तिमान पुत्र मांगी। कश्यप से गर्भ धारण करने पर अदिति ने इंन्द्र द्वारा दिति के गर्भ को ४९ टुकडे कर दिया जो मरुद्गण बने। दिति ने अदिति को श्राप दिया कि संतान के दुःख से कारागार में रहोगी। अदिति पुनर्जन्म में देवकी बनी और कंस ने देवकी को कारागार में बंद किया।

Quiz

इनमें से कौन सा मंत्र विद्या से संबंधित है ?

ॐ गणानां त्वा गणपतिं हवामहे कविं कवीनामुपमश्रवस्तमम् । ज्येष्ठराजं ब्रह्मणां ब्रह्मणस्पत आ नः शृण्वन्नूतिभिः सीद सादनम् ।। ॐ अग्निमीळे पुरोहितं यज्ञस्य देवमृत्विजम् । होतारं रत्नधातमम् ।। इषे त्वोर्जे त्वा वायव....

ॐ गणानां त्वा गणपतिं हवामहे कविं कवीनामुपमश्रवस्तमम् ।
ज्येष्ठराजं ब्रह्मणां ब्रह्मणस्पत आ नः शृण्वन्नूतिभिः सीद सादनम् ।।
ॐ अग्निमीळे पुरोहितं यज्ञस्य देवमृत्विजम् ।
होतारं रत्नधातमम् ।।
इषे त्वोर्जे त्वा वायवस्थोपायवस्थ देवो वः सविता प्रार्पयतु श्रेष्ठतमाय कर्मणे ।।
अग्न आयाहि वीतये गृणानो हव्यदातये ।
नि होता सत्सि बर्हिषि ।।
शन्नो देवीरभिष्टय आपो भवन्तु पीतये ।
शं योरभिस्रवन्तु नः ।।

Mantras

Mantras

मंत्र

Click on any topic to open

Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |