गौमाता से हथियार दूर रहें

gou mata

 

विश्वरूपां सुभगामच्छावदामि जीवलाम् ।

सा नो रुद्रस्यास्तां हेतिं दूरं नयतु गोभ्यः ॥

यह अथर्ववेद, षष्ठ काण्ड में ५९-वां सूक्त का तीसरा मंत्र है।

इस मंत्र में प्रार्थना की गयी है कि भय उत्पन्न करनेवाला कोई भी श्स्त्र गौओं के पास न आवे।

गौएं सदा सुरक्षित और निर्भय रहें।

 

 

Quiz

कृष्ण द्वैपायन किसका नाम है?

Recommended for you

 

Video - Gavdi akha jag ne vali  

 

Gavdi akha jag ne vali

 

 

Video - Home of The World's Shortest cows 

 

Home of The World's Shortest cows

 

 

Video - अरे जागो जागो मारा हिंदवा भाइयों - गौमाता करे पुकार 

 

अरे जागो जागो मारा हिंदवा भाइयों - गौमाता करे पुकार

 

Ramaswamy Sastry and Vighnesh Ghanapaathi

Copyright © 2022 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |
Vedahdara - Personalize
Active Visitors:
3333650