प्रचुरता के लिए कुबेर मंत्र

44.9K

Comments

d4cmv
बहुत बढिया चेनल है आपका -Keshav Shaw

अच्छा मंत्र, इसकी ऊर्जा महसूस कर रहा हूँ! 😊 -जयप्रकाश कुमार

फ़ायदा हो रहा है ....धन्यवाद....🙏🙏🙏🙏🙏 -सुनील

इन मंत्रों से मेरा जीवन बदल गया है। 🙏 -मधुकर यादव

यह मंत्र चिंता को दूर करता है -devesh varshney

Read more comments

महर्षि व्यास का दूसरा नाम क्या है?

महर्षि व्यास का असली नाम है कृष्ण द्वैपायन। इनका रंग भगवान कृष्ण के जैसा था और इनका जन्म यमुना के बीच एक द्वीप में हुआ था। इसलिए उनका नाम बना कृष्ण द्वैपायन। पराशर महर्षि इनके पिता थे और माता थी सत्यवती। वेद के अर्थ को पुराणों और महाभारत द्वारा विस्तृत करने से इनको व्यास कहते हैं। व्यास एक स्थान है। हर महायुग में एक नया व्यास होता है। वर्तमान महायुग के व्यास हैं कृष्ण द्वैपायन।

भक्ति-योग का लक्ष्य क्या है?

भक्ति-योग में लक्ष्य भगवान श्रीकृष्ण के साथ मिलन है, उनमें विलय है। कोई अन्य देवता नहीं, यहां तक कि भगवान के अन्य अवतार भी नहीं क्योंकि केवल कृष्ण ही सभी प्रकार से पूर्ण हैं।

Quiz

रावण के पूर्वजन्म का नाम क्या था ?

यक्षाय कुबेराय वैश्रवणाय धनधान्याधिपतये धनधान्याधिपत्यं मे देहि ददापय स्वाहा....

यक्षाय कुबेराय वैश्रवणाय धनधान्याधिपतये धनधान्याधिपत्यं मे देहि ददापय स्वाहा

Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |