अपने जीवन में धन और समृद्धि को आकर्षित करने के लिए लक्ष्मी मंत्र

43.0K
3.7K

Comments

iktjr
आभारी हूँ -gyan prakash

वेदधारा का कार्य अत्यंत प्रशंसनीय है 🙏 -आकृति जैन

इसके लिए मैं आपका हृदय से आभारी हूँ 💖... धन्यवाद 🙏 -pranav mandal

वेदधारा की धर्मार्थ गतिविधियों का हिस्सा बनकर खुश हूं 😇😇😇 -प्रगति जैन

सचमुच अद्भुत मंत्र है..धन्यवाद! -अन्वेषा

Read more comments

महाभारत के अनुसार गांधारी को सौ पुत्र कैसे प्राप्त हुए?

गांधारी ने ऋषि व्यास जी से सौ शक्तिशाली पुत्रों का वरदान मांगा। व्यास जी के आशीर्वाद से वह गर्भवती हो गई, लेकिन उसे लंबे समय तक गर्भधारण का सामना करना पड़ा। जब कुंती के पुत्र का जन्म हुआ तो गांधारी को निराशा हुई और उसने अपने पेट पर प्रहार किया। उसके पेट से मांस का एक लोथड़ा निकला। व्यास जी फिर आए, कुछ अनुष्ठान किए और एक अनोखी प्रक्रिया के माध्यम से उस गांठ को सौ बेटों और एक बेटी में बदल दिया। यह कहानी प्रतीकवाद से समृद्ध है, जो धैर्य, हताशा और दैवीय हस्तक्षेप की शक्ति के विषयों पर प्रकाश डालती है। यह मानवीय कार्यों और दैवीय इच्छा के बीच परस्पर क्रिया को दर्शाता है।

कर्ण का असली पिता कौन था?

कर्ण का असली पिता थे सूर्यदेव। माता थी कुंती। अधिरथ - राधा दंपती ने कर्ण को पाल पोसकर बडा किया।

Quiz

अर्जुन की मां कौन है?

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्रियै नमः....

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्रियै नमः

Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |