वेंकटेश करावलंब स्तोत्र

श्रीशेषशैलसुनिकेतन दिव्यमूर्ते
नारायणाच्युत हरे नलिनायताक्ष।
लीलाकटाक्षपरि- रक्षितसर्वलोक
श्रीवेङ्कटेश मम देहि करावलम्बम्।
ब्रह्मादिवन्दित- पदाम्बुज शङ्खपाणे
श्रीमत्सुदर्शन- सुशोभितदिव्यहस्त।
कारुण्यसागर शरण्य सुपुण्यमूर्ते
श्रीवेङ्कटेश मम देहि करावलम्बम्।
वेदान्तवेद्य भवसागरकर्णधार
श्रीपद्मनाभ कमलार्चितपादपद्म।
लोकैकपावन परात्पर पापहारिन्
श्रीवेङ्कटेश मम देहि करावलम्बम्।
लक्ष्मीपते निगमलक्ष्य निजस्वरूप
कामादिदोष- परिहारक बोधदायिन्।
दैत्यादिमर्दन जनार्दन वासुदेव
श्रीवेङ्कटेश मम देहि करावलम्बम्।
तापत्रयं हर विभो रभसान्मुरारे
संरक्ष मां करुणया सरसीरुहाक्ष।
मच्छिष्यमप्यनुदिनं परिरक्ष विष्णो
श्रीवेङ्कटेश मम देहि करावलम्बम्।
श्रीजातरूपनवरत्न- लसत्किरीट-
कस्तूरिकातिलक- शोभिललाटदेश।
राकेन्दुबिम्ब- वदनाम्बुज वारिजाक्ष
श्रीवेङ्कटेश मम देहि करावलम्बम्।
वन्दारुलोकवरदान- वचोविलास
रत्नाढ्यहारपरिशोभित कम्बुकण्ठ।
केयूररत्न सुविभासिदिगन्तराल
श्रीवेङ्कटेश मम देहि करावलम्बम्।
दिव्याङ्गदाङ्कित- भुजद्वय मङ्गलात्मन्
केयूरभूषण सुशोभित दीर्घबाहो।
नागेन्द्रकङ्कण- करद्वयकामदायिन्
श्रीवेङ्कटेश मम देहि करावलम्बम्।
स्वामिन् जगद्धरण वारिधिमध्यमग्न
मामुद्धारय कृपया करुणापयोधे।
लक्ष्मींश्च देहि मम धर्मसमृद्धिहेतुं
श्रीवेङ्कटेश मम देहि करावलम्बम्।
दिव्याङ्गरागपरिचर्चित- कोमलाङ्ग
पीताम्बरावृततनो तरुणार्कभास।
सत्याञ्चनाभपरिधान सुपत्तुबन्धो
श्रीवेङ्कटेश मम देहि करावलम्बम्।
रत्नाढ्यदाम- सुनिबद्धकटिप्रदेश
माणिक्यदर्पण- सुसन्निभजानुदेश।
जङ्घाद्वयेन परिमोहितसर्वलोक
श्रीवेङ्कटेश मम देहि करावलम्बम्।
लोकैकपावन- सरित्परिशोभिताङ्घ्रे
त्वत्पाददर्शनदिनेश- महाप्रसादात्।
हार्दं तमश्च सकलं लयमाप भूमन्
श्रीवेङ्कटेश मम देहि करावलम्बम्।
कामादिवैरि- निवहोऽप्रियतां प्रयातो
दारिद्र्यमप्यपगतं सकलं दयालो।
दीनं च मां समवलोक्य दयार्द्रदृष्ट्या
श्रीवेङ्कटेश मम देहि करावलम्बम्।
श्रीवेङ्कटेशपद- पङ्कजषट्पदेन
श्रीमन्नृसिंहयतिना रचितं जगत्याम्।
एतत् पठन्ति मनुजाः पुरुषोत्तमस्य
ते प्राप्नुवन्ति परमां पदवीं मुरारेः।

 

Ramaswamy Sastry and Vighnesh Ghanapaathi

70.9K
1.0K

Comments Hindi

ci4fe
आपकी सेवा से सनातन धर्म का भविष्य उज्ज्वल है 🌟 -mayank pandey

यह वेबसाइट बहुत ही शिक्षाप्रद और विशेष है। -विक्रांत वर्मा

वेदधारा से जुड़ना एक आशीर्वाद रहा है। मेरा जीवन अधिक सकारात्मक और संतुष्ट है। -Sahana

यह वेबसाइट अत्यंत शिक्षाप्रद है।📓 -नील कश्यप

अद्वितीय website -श्रेया प्रजापति

Read more comments

Other stotras

Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |