लोहा पारस के द्वारा छू जाने पर सोना बन जाता है। उसके बाद उसे घर में रखो या कूडे में फेंको, वह सोना ही रहेगा। ईश्वर के द्वारा छू जाने पर आदमी पवित्र बन जाता है। उसके बाद वह महल में रहें या जंगल में, वह पवित्र ही रहेगा। - संत वचन

Ishwar ka sparsh

Copyright © 2022 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |
Active Visitors:
3352790