१. देवों की पूजा। २. पितरों की पूजा। ३. वेद-शास्त्रों का अध्ययन। यही वेदों द्वारा निर्धारित धर्म है। मूर्ख ही इस मार्ग से भटकते हैं। महाभारत.१२.११.१७

Parv 12 Adhyay 11 Shlok 17

Audios

1

1

Copyright © 2021 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |
Active Visitors:
2461902