सीता देवी का आशीर्वाद पाने के लिए मंत्र

59.7K
8.0K

Comments

k8ek4
वेदधारा की समाज के प्रति सेवा सराहनीय है 🌟🙏🙏 - दीपांश पाल

यह वेबसाइट ज्ञान का खजाना है। 🙏🙏🙏🙏🙏 -कीर्ति गुप्ता

इस मंत्र से दिल को सुकून मिलता है -सागर गौरव

आपकी वेबसाइट बहुत ही अनमोल और जानकारीपूर्ण है।💐💐 -आरव मिश्रा

वेदाधरा के मंत्र सुनकर आत्मविश्वास बढ़ता है। 😊 -रजत

Read more comments

कर्ण को सूत पुत्र क्यों कहा जाता है?

कर्ण के पिता थे सूर्यदेव और माता थी कुंती । कर्ण का जन्म रहस्य था और कुंती के विवाह से पहले हुआ था। कुंती ने कर्ण को नदी में बहा दिया। अधिरथ - राधा दंपती को यह बच्चा मिला। उन्होने उसे पाला, पोसा, बडा किया। अधिरथ और राधा सूत जाति के थे। इसलिए कर्ण सूत पुत्र कहा जाता है।

कर्म के अनुसार ही अनुभव

कोई भी अनुभव बिना कारण का नहीं होता। श्रीराम जी मानते थे कि कौसल्या माता ने पूर्व जन्म में किसी माता के अपने पुत्र से वियोग करवाया होगा। इसलिए उनको इस जन्म में पुत्र वियोग सहना पडा।

Quiz

काजला देवी किसका नाम है ?

ॐ ह्रां सीतायै नमः । ॐ ह्रीं रमायै नमः । ॐ ह्रूं जनकजायै नमः । ॐ ह्रैम् अवनिजायै नमः । ॐ ह्रौं पद्माक्षसुतायै नमः । ॐ ह्रः मातुलिङ्ग्यै नमः ॥....

ॐ ह्रां सीतायै नमः । ॐ ह्रीं रमायै नमः । ॐ ह्रूं जनकजायै नमः । ॐ ह्रैम् अवनिजायै नमः । ॐ ह्रौं पद्माक्षसुतायै नमः । ॐ ह्रः मातुलिङ्ग्यै नमः ॥

Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |