संत वाणी - ३

89.0K

Comments

quyef
सनातन धर्म के भविष्य के प्रति आपकी प्रतिबद्धता अद्भुत है 👍👍 -प्रियांशु

वेदधारा को हिंदू धर्म के भविष्य के प्रयासों में देखकर बहुत खुशी हुई -सुभाष यशपाल

वेदधारा के साथ ऐसे नेक काम का समर्थन करने पर गर्व है - अंकुश सैनी

गुरुजी की शास्त्रों पर अधिकारिकता उल्लेखनीय है, धन्यवाद 🌟 -Tanya Sharma

वेदधारा ने मेरे जीवन में बहुत सकारात्मकता और शांति लाई है। सच में आभारी हूँ! 🙏🏻 -Pratik Shinde

Read more comments

गौ माता मंदिर कहां कहां हैं?

१. सीकर- राजस्थान २. अमरावती- महाराष्ट्र ३. वेलसा-सत्तारी- गोवा ४. सिरसा- हरियाणा ५. बोड़ला- उत्तरप्रदेश ६. रेगरपुरा-करोलबाग- नई दिल्ली ७. केसरबाग रोड- इंदोर। ये सारे सप्त गौ माता मंदिर हैं। यहां सात गर्भवती गायों की एक साथ पूजा होती है। इन मंदिरों में अधिकतर गर्भवती महिलाएं आती हैं जो अच्छी संतान के लिए प्रार्थना करती हैं।

गौ माता में कितने देवता रहते हैं?

गौ माता में सारे ३३ करोड देवता रहते हैं। जैसे: सींग के जड़ में ब्रह्मा और विष्णु, मध्य में महादेव, नोक में सारे तीर्थ, माथे पर गौरी, नाक में कार्तिकेय, आखों में सूर्य और चंद्रमा, मुंह में सरस्वती, गले में इंद्र, अपान में श्रीलक्ष्मी, शरीर के रोमों में तैंतीस करोड देवता।

Quiz

पांचजन्य क्या है ?

जो संसार में रहकर भी साधना कर सकते हैं, वे ही सचमुच बहादुर हैं हरिनाम सुनते ही जिसकी आँखों से सच्चे प्रेमाश्रु बह निकलते हैं, वही नाम-प्रेमी है डुबकी लगाते रहो, रत्न अवश्य मिल जाएगा । साधना करते रहो, ईश्वर की कृपा अवश्य होगी ।....

जो संसार में रहकर भी साधना कर सकते हैं, वे ही सचमुच बहादुर हैं
हरिनाम सुनते ही जिसकी आँखों से सच्चे प्रेमाश्रु बह निकलते हैं, वही नाम-प्रेमी है
डुबकी लगाते रहो, रत्न अवश्य मिल जाएगा । साधना करते रहो, ईश्वर की कृपा अवश्य होगी ।
मरने के समय मन में जो भाव है, आगे वही मिलता है । इसलिए सर्वदा भगवान का स्मरण करते रहो ताकि अंत में भगवान ही मन में रहें और वे मिल जाएं ।

Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |