संत वाणी - २

34.8K

Comments

sefv8
😊😊😊 -Abhijeet Pawaskar

Ram Ram -Aashish

प्रणाम गुरूजी 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 -प्रभास

आपको नमस्कार 🙏 -राजेंद्र मोदी

🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 -User_sdh76o

Read more comments

यमुनोत्री जाने से पहले क्या मुझे कुछ और जानना चाहिए?

यमुनोत्री की यात्रा करते समय स्थानीय रीति-रिवाजों और परंपराओं का सम्मान करना महत्वपूर्ण है। यह सलाह दी जाती है कि आप यात्रा के दौरान मदिरा या अमांसीय आहार का सेवन न करें। यह भी सुझाव दिया जाता है कि आप कुछ नकदी साथ लें, क्योंकि दूरस्थ क्षेत्रों में एटीएम या कार्ड भुगतान सुविधाएँ उपलब्ध नहीं हो सकती हैं। अंत में, हमेशा स्थानीय प्राधिकारियों द्वारा दिए गए निर्देशों और दिशानिर्देशों का पालन करें, जिससे आपको सुरक्षित और पूर्णता से यात्रा का आनंद मिले।

कलयुग कितना बाकी है?

कलयुग की कुल अवधि है ४,३२,००० साल। वर्तमान कलयुग ई.पू.३,१०२ में शुरू हुआ था और सन् ४,२८,८९९ में समाप्त होगा।

Quiz

राजस्थान के इस गाँव को मंदिर अधिक होने के कारण देव नगरी और ब्रह्म नगरी भी कहते हैं । कौन सा है यह गाँव ?

साधकों को ऐसे लोगों से एकदम दूर रहना चाहिए जो धर्म, धार्मिक और साधना की निन्दा करते हैं । माया को पहचान लेने पर वह तुरंत भाग जाती है । ईश्वर सबके अंदर विराजमान हैं जैसे दही के अंदर मक्खन । साधना द्वारा उन्हें मथकर निकालन....

साधकों को ऐसे लोगों से एकदम दूर रहना चाहिए जो धर्म, धार्मिक और साधना की निन्दा करते हैं ।

माया को पहचान लेने पर वह तुरंत भाग जाती है ।

ईश्वर सबके अंदर विराजमान हैं जैसे दही के अंदर मक्खन । साधना द्वारा उन्हें मथकर निकालना पडता है ।

ईश्वर साकार हो या निराकार, कोई फर्क नहीं पडता । मिसरी को जिस ओर से भी निकालकर खाओ, मीठी तो लगेगी न ?

मन सफेद कपडा है । इसे जिस रंग में डुबाओगे, वही रंग चढ जाएगा ।

Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |