लोगों को आकर्षित करने का मंत्र

96.8K

Comments

u4dzz

क्या यमुनोत्री मंदिर के परिसर में फोटोग्राफी की अनुमति है?

नहीं, यमुनोत्री मंदिर के परिसर में फोटोग्राफी की अनुमति नहीं है। हालांकि, आप पास के दृश्यसुंदर परिदृश्यों और आकर्षणों की फोटोग्राफी ले सकते हैं।

गोवत्स द्वादशी की कहानी क्या है?

एक बार माता पार्वती गौ माता के और भोलेनाथ एक बूढे के रूप में भृगु महर्षि के आश्रम पहुंचे। गाय और बछडे को आश्रम में छोडकर महादेव निकल पडे। थोडी देर बाद भोलेनाथ खुद एक वाघ के रूप में आकर उन्हें डराने लगे। डर से गौ और बछडा कूद कूद कर दौडे तो उनके खुरों का निशान शिला के ऊपर पड गया जो आज भी ढुंढागिरि में दिखाई देता है। आश्रम में ब्रह्मा जी का दिया हुआ एक घंटा था जिसे बजाने पर भगवान परिवार के साथ प्रकट हो गए। इस दिन को गोवत्स द्वादशी के रूप में मनाते हैं।

Quiz

कुरुक्षेत्र का तीर्थ स्थल थानेसर का पौराणिक नाम क्या है ?

ॐ ह्रीं गं ह्रीं वशमानय स्वाहा....

ॐ ह्रीं गं ह्रीं वशमानय स्वाहा

Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |