प्रयागराज क्यों प्रसिद्ध है?

Prayagraj

 

काशी, कैलास, कुरुक्षेत्र और पुष्कर के साथ हिंदुओं के लिए सबसे पवित्र स्थानों में से एक है प्रयागराज ।

आइए देखते हैं कि प्रयागराज को इतना महान क्या बनाता है।

 

Click below to watch - तीर्थो के राजा प्रयाग की अद्धभुत गाथा 

 

तीर्थो के राजा प्रयाग की अद्धभुत गाथा || PRAYAG KUMBH KATHA PART 1 || Prem Prakash Dubey AMIT BADANA

 

प्रयाग का क्या अर्थ है ?

प्रकृष्टो यागो यत्र - यहाँ महान यज्ञ हुआ था।

सृष्टिकर्ता प्रजापति भगवान ने प्रयागराज में एक महान यज्ञ किया।

प्रयाग तीर्थों का राजा है, इसलिए इसे प्रयागराज कहा जाता है।

 

प्रयागराज इतना महान क्यों है ?

ऋषि मार्कण्डेय ने एक बार युधिष्ठिर को प्रयागराज का महत्व बताया था।

प्रयागराज में स्नान करने वाले लोग स्वर्ग लोक जाते हैं।

प्रयागराज में मृत्यु मोक्ष की ओर ले जाती है।

प्रयागराज में बस मरने से व्यक्ति को योग साधना करने के सभी लाभ मिलते हैं।

प्रयागराज में प्रवेश करते ही सारे पाप नष्ट हो जाते हैं।

प्रयागराज में नियमित रूप से देव, असुर, ऋषि और सिद्ध आते रहते हैं।

प्रयागराज में देवी गंगा, देवी यमुना और देवी सरस्वती हमेशा विद्यमान रहती हैं।

यदि कोई प्रयागराज के बारे में मृत्यु शय्या से दूर दूर से भी सोचता है तो उसे ब्रह्मलोक की प्राप्ति होती है।

प्रयागराज दान देने के लिए एक महान जगह है।

ऐसा दाता उत्तरकुरु क्षेत्र में पुनर्जन्म लेगा, महान सुखों का आनंद लेगा, और लंबी आयु प्राप्त करेगा।

प्रयागराज में 60,00,10,000 पवित्र तीर्थ विद्यमान हैं।

प्रतिष्ठान, हंसप्रपतन तीर्थ, उर्वशीरमण, संध्या वट, कोटि तीर्थ, ऋणमोचन तीर्थ और अक्षय वट इनमें से सबसे महत्वपूर्ण हैं।

प्रयागराज की तीर्थ यात्रा करने से अश्वमेध यज्ञ करने का लाभ मिलता है।

तीर्थयात्री के पूर्वजों की दस पीढ़ियां मुक्त हो जाएंगी।

प्रयागराज की परिक्रमा पांच योजन लंबी है।

इस पर हर कदम पवित्र है।

नाग, कंबल और अश्वतर यहां तीर्थों के रूप में विद्यमान हैं।

 

प्रयागराज के रक्षक कौन हैं ?

ब्रह्मा उत्तर से प्रयागराज की रक्षा करते हैं।

विष्णु प्रयागराज की वेणी माधव के रूप में रक्षा करते हैं।

बरगद के रूप में शिव प्रयागराज की रक्षा करते हैं।

इंद्र हमेशा प्रयागराज की रक्षा करते हैं।

इसी कारण इसे इन्द्रक्षेत्र के नाम से भी जाना जाता है।

यही प्रयागराज की महानता है।

प्रयागराज की महानता के बारे में जानने से ही मनुष्य को मुक्ति मिलती है।

43.4K
1.2K

Comments

pdvb5
आपकी वेबसाइट ज्ञान और जानकारी का भंडार है।📒📒 -अभिनव जोशी

आपके प्रवचन हमेशा सही दिशा दिखाते हैं। 👍 -स्नेहा राकेश

वेदधारा समाज के लिए एक महान सेवा है -शिवांग दत्ता

वेदधारा के साथ ऐसे नेक काम का समर्थन करने पर गर्व है - अंकुश सैनी

वेदधारा हिंदू धर्म के भविष्य के लिए जो काम कर रहे हैं वह प्रेरणादायक है 🙏🙏 -साहिल पाठक

Read more comments

सालासर बालाजी में दर्शन करने में कितना समय लगता है?

साधारण दिनों में सालासर बालाजी का दर्शन एक घंटे में हो जाता है। शनिवान, रविवार और मंगलवार को ३ से ४ घंटे लग सकते हैं।

दक्षिणा क्या है?

दक्षिणा एक पारंपरिक उपहार या भेंट है जो एक पुजारी, शिक्षक, या गुरु को सम्मान और धन्यवाद के प्रतीक के रूप में दी जाती है। दक्षिणा धन, वस्त्र, या कोई मूल्यवान चीज हो सकती है। लोग दक्षिणा स्वेच्छा से उन लोगों को देते हैं जो अपने जीवन को धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यों के लिए समर्पित करते हैं। यह उन लोगों को सम्मान और समर्थन देने के लिए दी जाती है।

Quiz

बुध ग्रह की माता कौन है ?
Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |