नवग्रह पीड़ा निवारण उपाय

नवग्रह पीड़ा निवारण उपाय

नवग्रह पीडा से राहत पाने के लिए सरल और सुगम उपाय जो आप खुद कर सकते हैं।


 

मिट्टी के एक घड़े में इन द्रव्यों को डालें - 

  • आक, धतूरा, चिरचिटा दूब, बरगद एवं पीपल की जड़ें 
  • शमी, आम और गूलर के पत्ते 
  • गाय के दूध, घी, छाछ  तथा गौमूत्र 
  • चावल
  • चना
  • मूंग
  • गेहूं
  • काले एवं सफेद तिल
  • पीला सरसों
  • लाल एवं सफेद चन्दन का टुकड़ा 
  • शहद 

मिट्टी के ही ढक्कन से घड़े के मुख को बन्द करें।

पीपल के वृक्ष के पास दो फुट गहरा गड्ढा खोदकर वह मिट्टी का बर्तन खड़ी अवस्था उसमें गाड़ दें।

मिट्टी से गड्ढा भर दें।

धूप और दीप करें।

वहीं काले कंबल के ऊपर बैठकर इस मंत्र का ११ माला (१०८ x ११) करें -

ॐ नमो भास्कराय सर्वग्रहाणां पीड़ां नाशं कुरु कुरु स्वाहा।

उसके बाद पीपल को प्रणाम करके घर वापस आ जाएं।

पीछे मुड़कर न देखें।

 

ध्यान रहें - 

  • शनिवार शाम को यह विधि करें।
  • मिट्टी के नये घड़े का ही उपयोग करें।
  • घड़े में वस्तु डालते समय बिल्कुल मौन रहें।
  • घड़े को बन्द करने के बाद उसे कभी न खोलें।
41.2K

Comments

58dwm

संतान प्राप्ति के उपाय क्या हैं?

पद्म पुराण पाताल खंड में संतान प्राप्ति के लिए तीन उपाय बताये गये हैं- भगवान विष्णु का प्रसाद, भगवान शंकर का प्रसाद और गौ माता का प्रसाद।

जमवाय माता किसकी कुलदेवी है?

जमवाई माता कछवाहा वंश की कुलदेवी है। कछवाहा वंश राजपूतों की एक उपजाति और सूर्यवंशी है।

Quiz

जटायु का पिता कौन था ?
Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |