द्रोणाचार्य को किसने मारा?

जानिए - महाभारत युद्ध में द्रोणाचार्य को किसने और कैसे मारा

90.9K
1.1K

Comments

6yzqd

गौ माता में कितने देवता रहते हैं?

गौ माता में सारे ३३ करोड देवता रहते हैं। जैसे: सींग के जड़ में ब्रह्मा और विष्णु, मध्य में महादेव, नोक में सारे तीर्थ, माथे पर गौरी, नाक में कार्तिकेय, आखों में सूर्य और चंद्रमा, मुंह में सरस्वती, गले में इंद्र, अपान में श्रीलक्ष्मी, शरीर के रोमों में तैंतीस करोड देवता।

आदित्य हृदय स्तोत्र के फायदे क्या हैं?

आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करने से भय और खतरों से सुरक्षा मिलती है। इससे प्रतिद्वंद्वियों के साथ लड़ाई में सफलता प्राप्त होती है।

Quiz

वल्लभाचार्य के पुत्र कौन थे ?

महाभारत युद्ध के १५वें दिन, द्रोणाचार्य और उनके पुत्र अश्वत्थामा ने पांडव सेना पर तबाही मचा दी । विराट और द्रुपद सहित हज़ारों पाण्डव सैनिक मारे गये । अश्वत्थामा अपने पिता से दूर कहीं लडाई में लगे थे । भगवान श्रीकृष्ण ने एक ....

महाभारत युद्ध के १५वें दिन, द्रोणाचार्य और उनके पुत्र अश्वत्थामा ने पांडव सेना पर तबाही मचा दी ।
विराट और द्रुपद सहित हज़ारों पाण्डव सैनिक मारे गये ।
अश्वत्थामा अपने पिता से दूर कहीं लडाई में लगे थे ।
भगवान श्रीकृष्ण ने एक योजना बनाई ।
भीम अश्वत्थामा नाम के एक हाथी को मार डालें ।
और द्रोणाचार्य को बोलें कि मैं ने अश्वत्थामा को मार दिया है ।
जब भीम ने ऐसा किया तो द्रोणाचार्य को विश्वास नहीं हुआ ।
युधिष्ठिर कभी असत्य नहीं बोलते ।
द्रोणाचार्य ने युधिष्ठिर से पूछा - क्या यह सही है? ।
युधिष्ठिर ने भी कहा - अश्वत्थामा मारा गया है पर वह एक हाथी था ।
श्रीकृष्ण के निर्देशानुसार ’पर वह एक हाथी था’ बोला गया तो सैनिकों ने जोर से तुरही और शंख बजाये
द्रोणाचार्य इसे सुन नहीं पाए ।
दुख से भरे द्रोणाचार्य अपने शस्त्र त्यागकर रथ से उतरकर जमीन पर बैठ गये ।
इसका फायदा उठाकर धृष्टद्युम्न ने उनका शिरच्छेद किया ।

Copyright © 2024 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |