गोरक्षण

क्या कहा ?
देवी पशुबलि से प्रसन्न होगी ।
यह बिल्कुल झूठ है।
देवी-देवता पशु बलि से नहीं बल्कि आपकी नीच बासनाओं की बलि चढ़ाने से प्रसन्न होंगे।
दुर्गासप्तशती में लिखा है कि - पशून्मे रक्ष चण्डिके।
तब भला कहो; दुर्गा मां को पशुओं की रक्षा प्रिय है या कि हत्या ।
दुर्गा देवी तो पशुओं की भी रक्षा चाहती हैं।
मानव भाई !
आप वेद को मानते हो ।
वेद भगवान् कहते हैं -पशून पाहि - अर्थात् सब पशुओं की रक्षा करो।


आगे पढने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

Recommended for you

 

 

Video - Shri Krishnayan Gaushala, Haridwar 

 

Shri Krishnayan Gaushala, Haridwar

 

 

 

Ramaswamy Sastry and Vighnesh Ghanapaathi

Copyright © 2022 | Vedadhara | All Rights Reserved. | Designed & Developed by Claps and Whistles
| | | | |
Vedahdara - Personalize